पांच दिनों में पकड़े गए आरोपियों में 5 निकले पॉजिटिव
पांच दिनों में पकड़े गए आरोपियों में 5 निकले पॉजिटिव
मध्य-प्रदेश

पांच दिनों में पकड़े गए आरोपियों में 5 निकले पॉजिटिव

news

उज्जैन, 11 सितम्बर (हि.स.)। शासन के निर्देश हैं कि जिस भी आरोपित को जेल में बंद किया जाए, उसका पहले कोरोना टेस्ट करवाया जाए। निगेटिव आने पर जेल भेजें और पॉजिटिव आने पर उपचार करवाएं। दोबारा जांच में निगेटिव आए,तभी जेल भेजा जाए। इसी के चलते भैरवगढ़ जेल जाने के पूर्व 5 आरोपितों के पॉजिटिव आने के बाद उनका उपचार शा.कालिदास कन्या महाविद्यालय के लिए राम जनार्दन मंदिर के समीप बने नए भवन के पिछले हिस्से में ऐसे मरीजों का उपचार चल रहा है। जेल अधीक्षक अलका सोनकर ने बताया कि उक्त कॉलेज भवन के पिछले हिस्से में आयसोलेशन वार्ड बनाया गया है। यहां पर जेल भेजे गए नए आरोपितों /दोषियों को लाया जाता है। उनका कोरोना टेस्ट करवाया जाता है। टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर यहीं रखा जाता है ओर उपचार दिया जाता है। निगेटिव्ह आने पर जेल भेजा जाता है। वहां भी पहले आयसोलेट किया जाता है, बाद में बैरक में भेजा जाता है। श्रीमती सोनकर ने बताया कि पिछले पांच दिनों में जो नए बंदी आए,उनमें से पांच कोरोना पॉजिटिव आ गए। इनका उपचार किया जा रहा है। जब दोबारा से जांच में रिपोर्ट निगेटिव्ह आएगी, तभी जेल के आयसोलेशन वार्ड में भेजा जाएगा। उन्होंने बताया कि कोरोनाकाल जितना लम्बा चलेगा, कॉलेज का उक्त हिस्सा जेल के अन्तर्गत आयसोलेशन सह उपचार वार्ड के रूप में रहेगा। हिन्दुस्थान समाचार/ललित/राजू-hindusthansamachar.in