निजीकरण के खिलाफ विद्युत कर्मियों ने किया प्रदर्शन
निजीकरण के खिलाफ विद्युत कर्मियों ने किया प्रदर्शन
मध्य-प्रदेश

निजीकरण के खिलाफ विद्युत कर्मियों ने किया प्रदर्शन

news

ग्वालियर, 22 नवम्बर (हि.स.)। मप्र बिजली आउटसोर्स कर्मचारी संगठन के आह्वान पर रविवार को आउटसोर्स विद्युत कर्मचारियों ने बिजली के निजीकरण के खिलाफ रोशनीघर परिसर में विरोध प्रदर्शन किया। इस अवसर पर संगठन के प्रांतीय संयोजक मनोज भार्गव ने कहा कि ठेका प्रथा के चलते पहले से ही मध्यप्रदेश में करीब 35 हजार आउटसोर्स कर्मचारी आर्थिक शोषण का शिकार हो रहे हैं। ऐसे में बिजली कम्पनियों के निजीकरण के संबंध में केन्द्र सरकार द्वारा स्टेण्डर्ड वीडिंग डाक्यूमेंट जारी किए जाने से बिजली कम्पनियों के नियमित कर्मचारी भी अपने भविष्य को लेकर चिंतत हैं, इसलिए पंजाब के मुख्यमंत्री की तरह मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री को भी इस मामले में आगे आकर यह घोषणा करना चाहिए कि मध्यप्रदेश में बिजली कम्पनियों का निजीकरण नहीं किया जाएगा। उन्होंने आउटसोर्स विद्युत कर्मचारियों को मध्यप्रदेश आत्मनिर्भर अभियान से जोड़कर उन्हें बिजली कम्पनी से सीधे वेतन का भुगतान करने की भी मांग की। विरोध प्रदर्शन में बड़ी संख्या में आउटसोर्स विद्युत कर्मचारी शामिल रहे। हिन्दुस्थान समाचार/शरद-hindusthansamachar.in