दूरसंचार विभाग की लचर कार्यप्रणाली से उपभोक्ता दुखी, निजी कंपनियां देने लगी दस्तक
दूरसंचार विभाग की लचर कार्यप्रणाली से उपभोक्ता दुखी, निजी कंपनियां देने लगी दस्तक
मध्य-प्रदेश

दूरसंचार विभाग की लचर कार्यप्रणाली से उपभोक्ता दुखी, निजी कंपनियां देने लगी दस्तक

news

रतलाम, 15 अक्टूबर (हि.स.)। भारतीय दूरसंचार निगम (बीएसएनएल) की लचर कार्यप्रणाली तथा कर्मचारियों की कमी का खामियाजा उपभोक्ता भुगत रहे हैं। वहीं निजी कंपनियों ने दस्तक देना प्रारंभ कर दिया है। इससे मजबूरी में उपभोक्ताओं को निजी कंपनियों के कनेक्शन लेना पड़ेंगे। सरकारी विभागों में स्वान कनेक्शन के कारण बीएसएनएल की व्यवस्था समाप्त हो गई है, वहीं निजी स्तर पर भी उपभोक्ताओं का मन अब भरने लगा है। जिले के पिपलौदा नगर में गत एक सप्ताह से बीएसएनएल की लाइन बंद है, इससे कई कार्य प्रभावित हो रहे हैं। हर तीसरे दिन किसी न किसी कारण से लाइन बंद हो जाती है तथा स्थानीय स्तर पर कोई कर्मचारी नहीं होने से आम उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ता है। उपभोक्ताओं का कहना है कि बीएसएनएल की व्यवस्थाएं सही नहीं होने से मजबूरी में कनेक्शन कटवाना पड़ रहा है। यहां किसी समय 500 से अधिक उपभोक्ता बीएसएनएल के टेलीफोन का उपयोग करते थे, लेकिन लगातार मोबाईल कंपनियों की बेहतर व्यवस्थाओं के कारण बीएसएनएल के उपभोक्ताओं में कमी आ गर्ई। आज स्थिति यह है कि नगर में मात्र 55 टेलीफोन कनेक्शन है, जिनका भी सही से संचालन बीएसएनएल नहीं कर पा रहा है। आम उपभोक्ताओं को यह भी नहीं पता है कि यदि टेलीफोन की व्यवस्था गड़बड़ा जाए तो किससे संपर्क करें। यहां स्थानीय वितरण केन्द्र पर विगत दिसंबर से ताला लगा हुआ है तथा व्यवस्था का संचालन सीधे जावरा से हो रहा है। निजी टेलीकॉम कंपनियों की लाइन डालने तथा खेतों में जल निकासी की व्यवस्था करने तथा सड़क निर्माण के कार्यों के कारण बीएसएनएल की ओएफसी लाइन कट जाती है तथा उपभोक्ताओं को परेशान होना पड़ता है। गत वर्ष दिसंबर में थोक बंद कर्मचारियों के स्वैच्छिक सेवा निवृत्ति के बाद से व्यवस्थाओं में गड़बडी ज्यादा आने लगी है। बीएसएनएल ने ऑनलाइन शिकायत की व्यवस्था भी कर रखी है,लेकिन कर्मचारियों की कमी के कारण महिनों इन शिकायतों को कोई देखने वाला ही नहीं है। उपभोक्ता की परेशानी यह है कि जब तक शिकायत का निराकरण नहीं हो जाता वह नई शिकायत दर्ज नहीं करवा सकता है। इस संबंध में बीएसएनएल के एसडीओटी बीएल जाजोरिया का कहना है कि पिपलौदा नगर में 55 उपभोक्ता है, इनमें से 40 उपभोक्ता बीएसएनएल की ब्रॉड बैंड सेवाओं का उपयोग करते हैं। फिलहाल वहां कोई कर्मचारी नहीं होने से जावरा केन्द्र द्वारा व्यवस्था करवा कर फॉल्ट आदि का सुधार करवाया जाता है। यदि कोई समस्या है तो उसका समाधान कर दिया जाता है। हिन्दुस्थान समाचार/ शरद जोशी-hindusthansamachar.in