दिग्विजय ने सीएम शिवराज को लिखा पत्र, फसल मुआवजा मुहैया कराने की मांग की
दिग्विजय ने सीएम शिवराज को लिखा पत्र, फसल मुआवजा मुहैया कराने की मांग की
मध्य-प्रदेश

दिग्विजय ने सीएम शिवराज को लिखा पत्र, फसल मुआवजा मुहैया कराने की मांग की

news

भोपाल, 11 सितम्बर (हि.स.)। मध्य प्रदेश में अतिवर्षा और बाढ़ से 17 लाख किसान प्रभावित हुए है। अतिवर्षा से तबाह हुई फसलों का आकलन करने के लिए केन्द्रीय अध्ययन दल प्रदेश के प्रवास पर आया हुआ है। शुक्रवार को सीएम शिवराज ने केन्द्रीय अध्ययन दल के सदस्यों से मुलाकात कर मध्य प्रदेश में बीते पखवाड़े अतिवर्षा से हुई हानि की विस्तृत जानकारी केन्द्र सरकार को दी है। वहीं पूर्व सीएम और कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने सीएम शिवराज को पत्र लिखकर किसानों को तत्काल मुआवजा राशि देने की मांग की है। दिग्विजय सिंह ने अपने पत्र में कहा है कि मेरे द्वारा गत दिवस भोपाल और सीहोर जिलों का दौरा कर भारी वर्षा से तबाह हुई फसलों का अवलोकन किया था। इस अतिवृष्टि ने खरीफ की फसलें पूरी तरह से बर्बाद कर दी है। किसानों के सामने यह आपदा की घड़ी है। राज्य सरकार को तत्काल मुआवजा दिये जाने की कार्यवाही प्रारंभ करना चाहिये। मैं प्रमुख रूप से निम्न मांगों पर आपका ध्यान आकृष्ट कराना चाहता हूँ:- 1. खरीफ की फसल के दौरान जिन किसानों की फसलें पूरी तरह से खराब हो गई है, उनके द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड पर एवं प्राथमिक सहाकारी समितियों से लिया गया ऋण माफ किया जाये। 2. कृषि विशेषज्ञों का दल गठित किया जाकर फसल क्षति का आंकलन कराया जाये और संबंधित बीमा कम्पनियों से तत्काल बीमा राशि का भुगतान भी कराया जाये। 3. आगामी रबी की फसल के लिये किसानों को खाद, बीज की व्यवस्था कराई जाये। 4. जिन किसानों पर पूर्व का ऋण बकाया है उनको भी कृषि ऋण उपलब्ध कराया जाये। 5. आवश्यकता अनुसार किसानों को सहयोग के रूप में महात्मा गांधी नरेगा या सूखा राहत मद से मजदूर उपलब्ध करायें। दिग्विजय सिंह ने अपने पत्र में आगे कहा कि यह अत्यंत दुखद है कि भोपाल संभाग में इतने बड़े पैमाने पर किसानों की फसल बर्बाद होने पर भी जिला प्रशासन ने फसल क्षति आंकलन का कोई गंभीर प्रयास नहीं किया है जबकि किसानों की शत् प्रतिशत् फसलें खराब हो गई है। प्रदेश में खरीफ की फसल खराब होने के बाद अनेक जिलों में किसानों ने आत्महत्या करने जैसा दर्दनाक कदम उठा लिया है। जिसमें दो किसान आपके गृह जिले सीहोर के भी हैं। उन्होंने सरकार से आग्रह करते हुए कहा कि मेरा निवेदन है कि राज्य सरकार की ओर से संकट की घड़ी में प्रदेश के किसानों को तत्काल मुआवजा, बीमा कम्पनियों की तरफ से बीमा की राशि सहित खाद्य बीज उपलब्ध कराने के निर्देश देने का कष्ट करें। हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय-hindusthansamachar.in