जो कांग्रेस सरकार में सडक़ों पर उतरने की बात कहते थे, वह अब कहां है ? : जयवर्धन
जो कांग्रेस सरकार में सडक़ों पर उतरने की बात कहते थे, वह अब कहां है ? : जयवर्धन
मध्य-प्रदेश

जो कांग्रेस सरकार में सडक़ों पर उतरने की बात कहते थे, वह अब कहां है ? : जयवर्धन

news

गुना, 17 जुलाई (हि.स.)। जो लोग कांग्रेस सरकार में सड़क़ों पर उतरने की बात कहते थे, वह अब कहां है? राज्य सभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पर परोक्ष रुप से निशाना साधने वाला यह सवाल शुक्रवार को पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने उठाया। जगनपुर चक की घटना को लेकर पत्रकारों से बातचीत में जयवर्धन ने कहा कि दलित परिवार के साथ जिस तरह पुलिस ने बर्बरता दिखाई, वह निंदनीय है और यह सिर्फ भाजपा शासनकाल में ही हो सकता है। जेवी ने कहा कि मामले में कलेक्टर, एसपी के साथ पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई हुई है, किन्तु इस घटना में और भी कई लोग शामिल थे, जिन पर कोई कार्रवाई अभी तक नहीं की गई है। उन्होंने भाजपा के पूर्व विधायक राजेन्द्र सलूजा की शिकायत को आधार बनाते हुए कहा कि सीधे तौर पर जिम्मेदार राजस्व अधिकारियों पर कोई कार्रवाई क्यों नहीं हुई? जिस परिवार के साथ जुल्म हुआ है, वह किसान परिवार था, गरीब परिवार था जो लगभग 2 साल से वहां खेती कर रहा था। हैरानी की बात तो यह है कि जिस गब्बू पारदी का कब्जा उस जगह पर था. उस पर प्रशासन ने कोई कार्रवाई नहीं की है। उल्टा दलित परिवार के राजकुमार अहिरवार और उसके परिजनों पर प्रकरण दर्ज कर लिया गया। क्या भाजपा गुना को मंदसौर बनाना चाहती है : बाला बच्चन पूर्व गृहमंत्री बाला बच्चन ने सवाल उठाया कि क्या भाजपा गुना को मंदसौर बनाना चाहती है? उसे इस सवाल का जवाब देना ही होगा। फूल सिंह बरैया ने कहा कि भाजपा का यह अंतिम पायदान है। इसके बाद भाजपा नजर नहीं आएगी। विभा पटेल ने कहा कि किसान परिवार के साथ बर्बरता की गई है। लाठियों से मारपीट करने के साथ ही महिलाओं के कपड़े तक फाड़े गए। विभा पटेल ने आरोप लगाया कि भाजपा समाज में विघटन पैदा कर रही है। 9 सूत्रीय मांग पत्र भाजपा सरकार को भेजा जगनपुर घटना की जांच के लिए शुक्रवार को कांग्रेस द्वारा गठित जांच दल गुना आया। सात सदस्यीय इस जांच ने पहले कांग्रेस कार्यालय पहुंचकर कांग्रेसियों से घटना की जानकारी ली। इसके बाद जगनपुर पहुँचकर टीम ने पीडि़त दंपत्ति के परिजनों के साथ ही अन्यों से चर्चा की और वस्तु स्थिति से रुबरु होने का प्रयास किया। इसका बाद टीम जिला अस्पताल पहुंची और पीडि़त दंपत्ति से मुलाकात की। जांच दल ने बताया कि पूरी रिपोर्ट हाईकमान को सौपी जाएगी। फिलहाल 9 सूत्रीय मांग पत्र भाजपा सरकार को भेजा जा रहा है। इसके साथ ही जांच दल ने मांग की, कि जांच हाईकोर्ट के सिटिंग न्यायाधीश से कराई जाए तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। आप का धरना आज जगनपुर की घटना को लेकर आप भी मैदान में है। बीते रोज ज्ञापन सौपने के बाद शुक्रवार को पार्टी पदाधिकारियों ने पत्रकारों से चर्चा की। इस दौरान उन्होने जानकारी दी कि आप कल 18 जुलाई को शास्त्री पार्क पर धरना देगी। इस दौरान नेताओं ने सवाल उठाया कि जब उक्त जमीन पर अतिक्रमण हो रहा था तो प्रशासन क्या कर रहा था? और जब जमीन से कब्जा हटा दिया गया था तो फिर से कब्जा कैसे हो गया? नेताओं का कहना रहा कि वह अतिक्रमण के पक्ष में नहीं है, किन्तु अतिक्रमणकारियों को संरक्षण देने का काम शासन-प्रशासन ही कर रहा है। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक-hindusthansamachar.in