जांच में मानक निकला 400 क्विंटल मावा, इसे बेच सकेंगे व्यापारी
जांच में मानक निकला 400 क्विंटल मावा, इसे बेच सकेंगे व्यापारी
मध्य-प्रदेश

जांच में मानक निकला 400 क्विंटल मावा, इसे बेच सकेंगे व्यापारी

news

मंदसौर, 01 अगस्त (हि.स.)। नगर में विगत माह में मावा का मामला खूब चर्चाओं में आया था। मामले के अनुसार लाॅकडाउन के बाद खुली मावे की दुकानों का निरीक्षण करने के लिए जिला प्रशासन का अमला पहुंचा था तब अमले को नगर के दो मावा व्यापारियों के कोल्ड स्टोरेज से क्विंटलों मावा मिला था। खाद्य विभाग ने मावे के सेम्पल लिये थे जिनकी जांच रिपोर्ट शुक्रवार को मंदसोर खाद्य विभाग को प्राप्त हुई। इसमें मावा मानक स्तर का पाया गया है। जिला खाद्य एवं औषधि विभाग द्वारा विगत 2 जून तथा 4 जून को कोल्ड स्टोरेज महावीर मावा भंडार कालाखेत मंदसौर एवं श्री जी इंटरप्राइजेस कोल्ड स्टोरेज जग्गाखेड़ी मंदसौर से गुणवत्ता स्तर की जांच वास्ते मावे के कुल 23 नमूने लिये गये थे। जिनमें से 21 नमूने मानक स्तर के एवं 2 नमूने अमानक पाये गये हैं। जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी बी एस जामोद एवं कमलेश जमरा ने बताया कि 23 नमूने राज्य खाद्य प्रयोगशाला भोपाल भेजे गये ये थे। उक्त नमूनों की 16 मानकों के आधार पर जांच की गई जिसमें 2 नमूने अमानक स्तर के तथा शेष 21 नमूने मानक स्तर के पायें गये हैं। महावीर कोल्ड स्टोरेज कालाखेत मंदसौर से लिये गये मावे के कुल 6 नमूने मानक स्तर के पाये गये है एवं श्रीजी इंटरप्राइजेस कोल्ड स्टोरेज जग्गाखेड़ी मंदसौर से लिये गये मावे के कुल 17 नमूनों में से 2 अवमानक एवं 15 मानक स्तर के पाये गये हैै। जांच रिपोर्ट अनुसार मावे में किसी भी प्रकार के केमिकल या हानिकारक तत्व नहीं पाये गये हैं। जो नमूने अमानक स्तर के पाये गये है उनमें मिल्क फैट की पर्याप्त मात्रा नहीं पाई गई। करीब 15 क्विंटल अमानक मावे को नष्ट किया जाएगा। व्यापारी के पास रहेगा एक और अवसर जिला खाद्य विभाग को व्यापारी को नोटिस देना होगा कि उसका सेम्पल फैल हो गया है। यदि व्यापारी इस रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं होता है तो वह सेम्पल की जांच हेतु सेम्पल को सेन्ट्रल लैब भेजने की बात कर सकता है यह अधिकार व्यापारी के पास सुरक्षित है। हिन्दुस्थान समाचार/अशोक/केशव-hindusthansamachar.in