जयारोग्य अस्पताल में आगजनी से मरीजों को बचाने वाली महिला डॉक्टरों के जज्बे को सिंधिया ने किया सलाम
जयारोग्य अस्पताल में आगजनी से मरीजों को बचाने वाली महिला डॉक्टरों के जज्बे को सिंधिया ने किया सलाम
मध्य-प्रदेश

जयारोग्य अस्पताल में आगजनी से मरीजों को बचाने वाली महिला डॉक्टरों के जज्बे को सिंधिया ने किया सलाम

news

भोपाल, 22 नवम्बर (हि.स.)। ग्वालियर संभाग के सबसे बड़े अस्पताल जयारोग्य सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में शनिवार को शॉर्ट सर्किट की वजह से आईसीयू में आग लगी थी। आगजनी की घटना से अस्पताल में अफरा तफरी का माहौल बन गया था। लेकिन वहां मौजूद महिला डॉक्टरों ने मुस्तैदी दिखाते हुए आईसीयू में भर्ती सभी मरीजों को सकुशल निकाल लिया था। महिला डॉक्टरों के इस जज्बे को भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सलाम किया है। सिंधिया ने रविवार सुबह ट्वीट कर लिखा कि -‘ग्वालियर के कोविड सेंटर में आग लगने की खबर अत्यंत दु:खद है। इस घटना के दौरान ग्वालियर की दो महिला डॉक्टर ने साहस का परिचय देते हुए बिना पीपीई किट पहने सभी 9 मरीजों की जान बचा कर रियल हीरो की भूमिका निभाई है। इन दोनों महिला डॉक्टर्स की बहादुरी और वीरता को मेरा सलाम। गौरतलब है कि शनिवार को जयारोग्य सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में शॉर्ट सर्किट की वजह से अस्पताल की चौथी मंजिल पर स्थित आईसीयू में आग लगी थी। आगजनी की घटना का पता चलते ही सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल की नोडल अफसर नीलिमा टंडन और नीलिमा सिंह तुरंत चौथी मंजिल पर पहुंची। समय की कमी को देखते हुए दोनों महिला डॉक्टर मरीजों की जान बचाने की खातिर बाकी स्टाफ और डॉक्टरों को बुलाया और खुद बिना किट पहने मरीजों की जान बचाने में जुट गईं। इसी तेजी के चलते सभी मरीजों को बचा लिया गया। इस हादसे में आईसीयू में भर्ती 9 मरीजों में से 2 मामूली झुलस गए। आग से मची अफरा तफरी में दो मरीजों की मौत हो गई। एक वेंटीलेटर भी जल गया। हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय-hindusthansamachar.in