जनता को अपनी गरीबी का हिसाब दें शिवराज: सज्जन सिंह वर्मा
जनता को अपनी गरीबी का हिसाब दें शिवराज: सज्जन सिंह वर्मा
मध्य-प्रदेश

जनता को अपनी गरीबी का हिसाब दें शिवराज: सज्जन सिंह वर्मा

news

भोपाल, 13 अक्टूबर (हि.स.)। 'भूखे-नंगे' को लेकर प्रदेश की राजनीति लगातार गर्मा रही है। इसे लेकर सत्तारूढ़ भाजपा ने जहां सोशल मीडिया पर 'मैं भी शिवराज' अभियान शुरू किया है वहीं, कांग्रेस नेता लगातार मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और भारतीय जनता पार्टी को निशाना बना रहे हैं। इसी कड़ी में प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सज्जन सिंह वर्मा ने शिवराज सिंह के गरीबी के संबंध में नए अभियान को लेकर तंज कसा है। उन्होंने कहा है कि जनता यह जानना चाहती है की शिवराज और प्रदेश में 15 साल शासन करने वाले भाजपाई नेताओं की गरीबी का क्या हाल है? ऐसे लोग जिनके घरों में दो-दो नोट गिनने की मशीनें लगी हों, वह गरीबी की बात कर आम गरीबों का मजाक उड़ा रहे हैं। वर्मा ने शिवराज पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश में 15 सालों में इतना भ्रष्टाचार हुआ, जिसकी कोई सीमा नहीं है। व्यापमं घोटाला हो, डंपर घोटाला, पेंशन घोटाला, प्रदेश में अवैध रेत खनन का माफिया खुद शिवराज चौहान हैं। ऐसे सैकड़ों घोटाले शिवराज सरकार ने तथा उनके मंत्रियों ने किए और सिंहस्थ जैसा बड़ा घोटाला किया। फल स्वरूप भगवान शिव के श्राप से ही प्रदेश में उनकी सरकार बदल गई थी। वर्मा ने कहा कि शिवराज सिंह तथा अन्य भाजपा के मंत्री और नेता प्रदेश की जनता को यह बताएं कि वह जब पहली बार चुनाव लड़े थे तब और आज में क्या अंतर है। पहले वह कितने गरीब थे? और आज वह कितने गरीब हैं? वर्मा ने कहा कि शिवराज के भाई के पास सीहोर में 15 एकड़ जमीन है। पिछले से 6 सालों में वह 4000 क्विंटल फसल बेच चुके हैं, जिसका पूरा लेखा जोखा हमारे पास है। उन्होंने कहा कि मंत्री या मुख्यमंत्री बनने से दौलत नहीं आती है, शिवराज अपनी काली कमाई का हिसाब जनता को दें। प्रदेश की जनता यह जानना चाहती है की भाजपा के कितने नेता गरीब हैं। हिन्दुस्थान समाचार/केशव दुबे-hindusthansamachar.in