चार दिवसीय प्राकृतिक चिकित्सा योग एवं नशामुक्ति शिविर का शुभारंभ
चार दिवसीय प्राकृतिक चिकित्सा योग एवं नशामुक्ति शिविर का शुभारंभ
मध्य-प्रदेश

चार दिवसीय प्राकृतिक चिकित्सा योग एवं नशामुक्ति शिविर का शुभारंभ

news

चार दिवसीय प्राकृतिक चिकित्सा योग एवं नशामुक्ति शिविर का हुआ आगाज छतरपुर (20 दिसं हि.स.)। शहर के आकाशवाणी तिराहा के पास स्थित नीलांचल प्राकृतिक चिकित्सा एवं नशामुक्ति केन्द्र में चार दिवसीय प्राकृतिक चिकित्सा, योग एवं नशामुक्ति शिविर का आयोजन किया गया है। शिविर का उद्घाटन पन्ना जिला के वैद्य माधव कुम्हार के मुख्य आतिथ्य में हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. राजेन्द्र गुप्ता ने की। विशिष्ट अतिथि मध्यप्रदेश गांधी स्मारक निधि के अध्यक्ष दुर्गा प्रसाद आर्य रहे। शिविर के शुभारंभ अवसर पर मुख्य वक्ता डॉ. दिनेश मिश्रा ने आहार, रोग, पाचन आदि के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि भोजन वह है जो भरपेट खाया जा सके तथा आंतों में कोई बुरा प्रभाव न डाले एवं पेट साफ करने का भी गुण होना चाहिए। सबसे पहले आंत पर अटैक होता है। आंतों को गतिशील बनाने से ब्रेन अटैक व हार्ट अटैक से बचा जा सकता है। मुख्य अतिथि कुम्हार ने कहा कि दवा से रोग दब जाते हैं लेकिन पुन: नए-नए रूपों में रोग प्रकट होते हैं। रोग को जड़ से दूर करने के लिए प्राकृतिक चिकित्सा ही कारगर है। कार्यक्रम में मानिकलाल कुशवाहा एवं किशोरी लाल बाजपेयी ने प्राकृतिक चिकित्सा पर आधारित एवं प्रेरणास्पद कविता पाठ की सत्यशोधन आश्रम के बच्चों ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की। कार्यक्रम का संचालन प्रमोद सारस्वत ने किया। वहीं चिमनलाल महोर, सरिता सिंह, अंकित मिश्र, विक्रम सिंह, कमलेश नामदेव, आरसी विद्यार्थी, गौरव-मीना मिश्रा, सत्यनिधि त्रिपाठी, भूपेन्द्र सिंह, देवेन्द्र भंडारी, दीपेन्द्र शर्मा, जेके आशू, नईम खान, मो. हारून, नीलम पांडे, जानकी सक्सेना, अनूप दीक्षित व उदयभान विशेष रूप से उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/पवन अवस्थी-hindusthansamachar.in