घट स्थापना के साथ शुरु होंगे नवरात्र, नौ दिनों तक होगी माँ की आराधना
घट स्थापना के साथ शुरु होंगे नवरात्र, नौ दिनों तक होगी माँ की आराधना
मध्य-प्रदेश

घट स्थापना के साथ शुरु होंगे नवरात्र, नौ दिनों तक होगी माँ की आराधना

news

गुना 16 अक्टूबर (हि.स.)। माँ शक्ति की विशेष आराधना का पर्व नवदुर्गा महोत्सव कल 17 अक्टूबर से शुरु हो रहे है। कोरोना संक्रमण काल में होने जा रहा इस पर्व के दौरान कोरोना के संहार की प्रार्थना माँ दुर्गा जी से की जाएगी। इस दौरान घर-घर में घट स्थापना की जाएगी तो जिले भर में हजारों स्थानों पर माँ के दरबार सजेंगे। झांकियों के रुप में सजने वाले दरबार में माँ को विभिन्न रुपों में विराजा जाएगा। इसके बाद पूरे नौ दिनों तक माँ दुर्गा जी की आराधना की जाएगी। इसको लेकर तैयारियां पूर्ण कर ली गईं है। देवी स्थलों पर दर्शन के लिए उमड़ेंगे श्रद्धालु नवदुर्गा महोत्सव में शहर के नजदीक स्थित माँ बीस भुजा देवी, माँ निहाल देवी सहित अन्य देवी स्थलों पर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहेगा। इस दौरान भक्तों द्वारा विभिन्न प्रकार से माता की उपासना के नजारे देखने को मिलेंगे। कुछ लोग मंदिर पर झंडा चढ़ाने के लिए पैदल यात्रा करते हैंं, तो कई श्रद्धालु पेंढ़ भरते हुए मां के दरबार में पहुंचकर मत्था टेकते हैं। इधर झांकियों के लिए स्थापना स्थल पर पंाडाल सजाने के साथ आकर्षक रोशनी भी लगाई हैं। झांकी स्थलों से लेकर शहर की सडक़ों तक को रोशनी से के बंदरबांदों से सजा दिया है। शाम होते ही यह नजारा अलौकिक छटा बिखेर देता हैं। उत्सव के दौरान छोटे बच्चों का उत्साह देखते ही बनता हैं। हालांकि कोरोना की छाया के चलते गरबा, सहित धार्मिक आयोजन पर रोक लगी हुई है। देवी स्थलों पर भी सिर्फ पूजा अर्चना हो सकेगी। भक्ति के देखने मिले अलग-अलग रंग स्थापना के लिए माँ अंबे की प्रतिमाओं को ले जाने का क्रम आज दिन भर चलता रहा। इस दौरान भक्ति के अलग-अलग रंग देखने को मिले। कोई ट्रेक्टर-ट्रॉली या अन्य वाहनों में माँ जगदंबे की प्रतिमाओं को स्थापना स्थल तक लेकर गया तो कई भक्तों ने दोपहिया वाहनों को माध्यम बनाया। अनेक भक्त ऐसे भी रहे, जिन्होने माँ दुर्गा जी की प्रतिमाओं को कांधे पर ही सवार कर लिया।इस दौरान श्रद्धालु घरों में स्थापना के लिए मां दुर्गा जी की छोटी-छोटी प्रतिमा दोपहिया या चार पहिया वाहनों से ले जाते देखने को मिले तो माँ दुर्गा जी की विशाल प्रतिमाओं को ढोल धमाकों के साथ ट्रेक्टर-ट्रॉली सहित अन्य वाहनों से ले जाया गया। इस दौरान वातावरण में रंग-गुलाल उड़ता रहा और धार्मिक गीत बजने के साथ मां दुर्गा जी के जयकारे गूंजते रहे। एक जानकारी मुताबिक जिले भर में हजारों एवं शहर में तीन सैकड़ा स्थानों पर माँ दुर्गा जी दी झांकियां सजने जा रहीं हैं। इसके बाद पूरे नौ दिन तक श्रद्धालु माँ दुर्गा जी की आराधना में डूबे रहेंगे। दस में से 8 दिन रहेंगे विशेष योग नवरात्रि के दौरान 10 दिन में से 8 दिन विशेष योग बन रहे हैं। इनका महत्व नवरात्रि के शुभ दिनों में आने से अत्यंत बढ़ गया है। इन दिनों में राजयोग, द्वि पुष्कर योग, सिद्धियोग, सर्वार्थ सिद्धि योग, सिद्धियोग और अमृत योग का संयोग बन रहा है। इन विशेष योगों में की गई खरीदारी अत्यधिक शुभ और फलदायी रहती है। प्रतिपदा के दिन हस्त नक्षत्र और ब्रह्म योग नवरात्रि पूजन व कलश स्थापना आश्विन शुक्ल प्रतिपदा के दिन सूर्योदय के बाद 10 घड़ी तक अथवा अभिजीत मुहूर्त में करना चाहिए। प्रतिपदा के दिन चित्रा नक्षत्र तथा वैधृति योग हो तो वह दिन दूषित होता है। ज्योतिष शास्त्रियों के अनुसार नवरात्रि पूजन द्वि स्वभाव लग्न में करना श्रेष्ठ रहता है। मिथुन, कन्या व धनु राशि द्वि स्वभाव राशि हैं। हमें इसी लग्न में पूजा शुरू करनी चाहिए। सूर्योदय के बाद व अभिजीत मुहूर्त में घट (कलश) स्थापना करना चाहिए। श्रद्धालु मां भगवती के सभी 9 रूपों का हर दिन पूजन करेंगे। भक्तों के लिए इस बार नवरात्रि बेहद खुशहाली और संपन्नता लाने के संकेत दे रही है। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक/राजूू-hindusthansamachar.in