गोपाष्टमी पर सीएम शिवराज ने दी शुभकामनाएं, गौ-सेवा और संरक्षण का प्रण लेने की अपील की
गोपाष्टमी पर सीएम शिवराज ने दी शुभकामनाएं, गौ-सेवा और संरक्षण का प्रण लेने की अपील की
मध्य-प्रदेश

गोपाष्टमी पर सीएम शिवराज ने दी शुभकामनाएं, गौ-सेवा और संरक्षण का प्रण लेने की अपील की

news

भोपाल, 22 नवम्बर (हि.स.)। आज यानि 22 नवंबर को गोपाष्टमी मनाई जा रही है। यह पर्व हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। हिंदू धर्म में गोपाष्टमी का विशेष महत्व है। यह धार्मिक पर्व गोकुल, मथुरा, ब्रज और वृंदावन में मुख्य रूप से मनाया जाता है। गोपाष्टमी के दिन गौ माता, बछड़ों और दूध वाले ग्वालों की आराधना की जाती है। शास्त्रों के अनुसार, गाय में 33 करोड़ देवी-देवता वास करते हैं और इनकी पूजा से सभी मनोकामना पूरी होती है। गोपाष्टमी के अवसर पर मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी है। साथ ही उन्होंने गौ-सेवा और संरक्षण का प्रण लेने की अपील भी की है। सीएम शिवराज ने ट्वीट कर लिखा ‘लक्ष्मीर्या लोकपालानां धेनुरूपेण संस्थिता। सनातन धर्म में गौ-माता को सर्वोदेवमयी व सर्वोवेदमयी कहा गया है। इनके बिना देवों तथा वेदों की पूजा अधूरी मानी जाती है। आइये, गोपाष्टमी के पावन अवसर पर गौ-सेवा और संरक्षण का प्रण करें। इनसे हमारी धरा संतुलित होगी और मनुष्य का मंगल होगा। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने ट्वीट कर कहा ‘सभी देवी - देवताओं को अपने में समाहित करने वाली गौमाता की आराधना पर्व "गोपाष्टमी" की आप सभी को आत्मीय बधाई एवं शुभकामनाएं। भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने अपने संदेश में कहा ‘रोम रोम में देव रमे हों ऐसी पवित्र गौ माता है, चार धाम का पुण्य भी गौ सेवा से मिल जाता है। भारतीय संस्कृति के एक प्रमुख पर्व गोपाष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ। गौरतलब है कि आज ही गोपाष्टमी के अवसर पर शिवराज सरकार की गौ कैबिनेट की पहली बैठक होगी। पहले यह बैठक आगर- मालवा के सालरिया गौ अभ्यरण में होने वाली थी, लेकिन अब यह बैठक भोपाल में ही ऑनलाइन होगी। इसके बाद सीएम शिवराज सालरिया जाऐंगे, जहां वह गोपालष्टमी पर अवसर पर जनसभा को संबोधित करेंगे। बता दें कि एमपी देश का पहला राज्य है जहां गौ कैबिनेट का गठन किया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय/राजूू-hindusthansamachar.in