खेल मैदान में चली जेसीबी, ग्रामीणों ने जताया विरोध
खेल मैदान में चली जेसीबी, ग्रामीणों ने जताया विरोध
मध्य-प्रदेश

खेल मैदान में चली जेसीबी, ग्रामीणों ने जताया विरोध

news

अनूपपुर, 17 सितम्बर (हि.स.)। ग्रामीण क्षेत्रों में नलजल योजना के तहत जलापूर्ति कराने की योजना पर पीएचई विभाग और ग्राम पंचायत के बीच गुरुवार दोपहर उस समय हंगामा मच गया, जब ग्रामीणों ने शासकीय खेल मैदान पर खड़े होने वाली पानी टंकी के निर्माण का विरोध करते हुए जेसीबी मशीन को बाहर ले जाने पर अड़ गए। इसके बाद सैकड़ों की तादाद में पहुंचे युवा और ग्रामीणों ने अधिकारियों का जमकर विरोध किया और निर्माण कार्य नहीं होने दिया। इसके बाद अधिकारियों ने ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया। लेकिन ग्रामीण एक ही बात पर अड़े रहे कि शासकीय खेल मैदान से नलजल योजना की पाइपलाइन नहीं गुजरने दी जाएगी और ना ही पानी टंकी का निर्माण होने दिया जाएगा। यहां शासकीय भूमि पर लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है, प्रशासन उसे खाली कराकर निर्माण कराए। यहां ग्राम के सैकड़ो बच्चे खेल-कूदने आते हैं। और आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में यह एक मात्र खेल का मैदान है। इसके बाद अधिकारियों व ग्रामीणों के बीच घंटो वाद विवाद की स्थिति बनती बिगड़ती रही। बाद में पीएचई विभाग के एसडीओ एसपी द्विवेदी, ग्राम पंचायत सरपंच मान सिंह, रोजगार सहायक राजेश गुप्ता ने ग्रामीणों को समझाते हुए मामला शांत कराया। बताया जाता है कि ग्राम पंचायत छोहरी में मप्र शासन की 5 एकड़ से अधिक शासकीय भूमि है, जो ग्राम पंचायत के खेल मैदान के रूप में चिह्नित है। जिसमें फिलहाल लगभग 2 एकड़ भूमि पर स्थानीय अतिक्रमणकारियों ने कब्जा कर उसमें निर्माण कर लिया है। लेकिन शेष बची हुई भूमि पर भी अब शासकीय अधिकारियों ने नजर जमाते हुए उसमें नवनिर्माण की नींव खोद दिया। अतिक्रमण खाली कराकर प्रशासन कराए निर्माण, दो अतिक्रमणो को हटाया ग्रामीणों व अधिकारियों के बीच ठना विवाद शाम तक शांत नहीं हुआ, जिसके बाद ग्रामीणों की अपील पर पीएचई अधिकारियों ने पास के अतिक्रमित स्थानों के दो परिसरों को हटाते हुए फिर से जमीन की खुदाई का कार्य आरम्भ कराया। ग्रामीणों का कहना था कि प्रशासन अतिक्रमण हटाकर कार्य कराए, जमीन नहीं देंगे। जिसपर पास के दो अतिक्रमण को हटाया गया, और वहां पानी टंकी के लिए नींव खोदने का कार्य आरम्भ किया गया। एसडीओ पीएचई कोतमा एसपी द्विवेदी ने बताया कि यहां नलजल योजना के लिए पानी टंकी और पाइप लाइन बिछाना प्रस्तावित था, लेकिन खेल मैदान होने के कारण ग्रामीणों ने इसका विरोध किया। बाद में शांत कराते हुए बगल के अतिक्रमण को हटाकर पुन: कार्य आरम्भ किया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/ राजेश शुक्ला-hindusthansamachar.in