कोविड कंट्रोल रूम को प्रभावी बनाया जाएगा, कलेक्टर सुबह-शाम करेंगे डाटा की समीक्षा
कोविड कंट्रोल रूम को प्रभावी बनाया जाएगा, कलेक्टर सुबह-शाम करेंगे डाटा की समीक्षा
मध्य-प्रदेश

कोविड कंट्रोल रूम को प्रभावी बनाया जाएगा, कलेक्टर सुबह-शाम करेंगे डाटा की समीक्षा

news

रतलाम, 10 सितम्बर (हि.स.)। जिला मुख्यालय पर ई-दक्ष केंद्र में बनाए गए कोविड कंट्रोल रूम को प्रभावी बनाया जाएगा। कलेक्टर प्रतिदिन सुबह-शाम कंट्रोलरूम से डाटा लेकर समीक्षा करेंगे। उन्होंने गुरुवार को कंट्रोलरूम का निरीक्षण कर बैठक लेकर निर्देश भी दिए। कलेक्टर गोपालचंद डाड ने बताया कि डाक्टरों की टीम होम आइसोलेट तथा कोरोनटाइन मरीजों की विडियाकालिंग से सतत मानिटरिंग करेंगे। उन्होंने कंट्रोलरूम की गतिविधियों की विस्तार से जानकारी ली। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि होम आईसोलेशन तथा कोरोनटाईन मरीज के सुबह-शाम के ट्रेम्प्रेचर,आक्सीजन लेबल तथा पल्स रेड की जानकारी कंट्रोल रूम द्वारा उन्हें दी जाए। उन्होंने यह भी कहा कि शीघ्र ही जिले में सैलाना, बाजना, आलोट आदि स्थानों पर कोविड केयर सेंटर बनाए जा रहे है, जहां एसिंप्टोमेटिक मरीजों को रखा जाएगा। कोरोना प्रभावी नियंत्रण के लिए आवश्यक है कि कंट्रोल रूम प्रतिदिन के डेटा का विश्लेषण करके नतीजे निकाले,जो भी व्यक्ति कंट्रोलरूम पर काल करता है उसे उपचार के संबंध में सही सलाह दी जाए। सही सलाह दी जाए कलेक्टर द्वारा कंट्रोल रूम प्रभारी को निर्देश दिए गए कि पूरे जिले की रिपोर्ट प्रतिदिन समय सीमा में एकत्र कर अवगत कराएं । टेबल फॉर्म में रिपोर्ट कलेक्टर के पास आए जिसका विश्लेषण कलेक्टर द्वारा भी किया जाएगा । कलेक्टर ने निर्देश दिए कि कंट्रोल रूम खास तौर पर पॉजिटिव मरीजों को फोकस करते हुए उनके स्वास्थ्य की मानिटरिंग करें प्रतिदिन पॉजिटिव मरीजों के स्वास्थ्य की जानकारी से कलेक्टर को अवगत कराया जाए । अनावश्यक हास्पिटल में नहीं रखा जाए कलेक्टर ने कंप्यूटर पर बैठकर डाटा रिकॉर्ड देखा, डिस्चार्ज किए गए मरीजों की समीक्षा करते हुए सख्त निर्देश दिए कि डिस्चार्ज योग्य मरीज को अनावश्यक हॉस्पिटल में नहीं रखा जाए ,तत्काल डिस्चार्ज किया जाए । कलेक्टर ने इस बात पर जोर दिया कि जिले में कोरोना प्रसार पर प्रभावी कंट्रोल के लिए स्वास्थ्य विभाग में बेहतर प्रशासनिक व्यवस्था हो। डीप्टी कलेक्टर जैन प्रभारी रहेगी उन्होंने कहां की डिप्टी कलेक्टर सिराली जैन कोविड-कंट्रोल रूम की इंचार्ज रहेंगी । वह बेहतर प्रशासनिक व्यवस्था एवं प्रबंधन के लिए जवाबदेही के साथ काम करेंगी इंटरनेट व्यवस्था के निर्देश कंट्रोल रूम की प्रभावी भूमिका के लिए कलेक्टर ने परिसर में बेहतर इंटरनेट व्यवस्था के निर्देश दिए । इसके लिए हेल्पलाइन 181 के टेलीफोन कनेक्शन कंट्रोल रूम पर भी स्थापित किए जाएंगे । जिससे जिले भर में बात करने के लिए तेज स्पीड मिले । सघन डाटा मानिटरिंग करें सीएमएचओ को निर्देशित किया कि उनको कोरोना के संबंध में प्रत्येक समय पूरी जानकारी रहे । इस दौरान कंप्यूटर सिस्टम पर जानकारी होने पर कलेक्टर ने पाया कि जिले के डिस्चार्ज मरीजों के संबंध में कंप्यूटर पर व्यवस्थित ढंग से जानकारी संधारित नहीं है । कलेक्टर द्वारा एपिडेमियोलॉजिस्ट को निर्देशित किया गया कि वह प्रतिदिन सघन डाटा मानिटरिंग करें । हिन्दुस्थान समाचार/ शरद जोशी-hindusthansamachar.in