कोरोना महामारी के बीच भी रक्षाबंधन पर्व को लेकर बाजारों में भीड़ उमड़ी
कोरोना महामारी के बीच भी रक्षाबंधन पर्व को लेकर बाजारों में भीड़ उमड़ी
मध्य-प्रदेश

कोरोना महामारी के बीच भी रक्षाबंधन पर्व को लेकर बाजारों में भीड़ उमड़ी

news

रतलाम, 01 अगस्त (हि.स.)। कोरोना संक्रमण के बीच भी लोग रक्षाबंधन का परम्परागत त्यौहार मना रहे हैं। जो लोग बाहर नहीं जा पा रहे हैं और जिनके पास परिवहन के साधन उपलब्ध नहीं हैं, वे स्थानीय स्तर पर ही यह त्यौहार अपने परिवार के बीच मना रहे हैं और इस बात का भी ध्यान रख रहे है कि शासन के निर्देशों के तहत सामाजिक दूरी का पालन हो। राखी के दिनों में घेवर की मिठाई का प्रचलन रतलाम में अत्यधिक है। इसी कारण मिठाई की दुकानों पर घेवर के थाल सजे हुए है, जहां पर भी ग्राहकों की भीड़ नजर आ रही है। गुरूवार से ही बाजार में राखी की खरीदी हो रही है। शनिवार को ईद का त्यौहार होने के कारण भी बुधवार से ही बाजार में भीड़ थी, लेकिन शनिवार को बाजार में राखी की ही ग्राहकी अधिक नजर आई। मिठाई की दुकानदारों में इस बात का भय बना हुआ रहा कि कही शनिवार-रविवार को लॉकडाउन तो नहीं है,इस कारण भी मिठाई कम ही बनी है। एक दुकानदार ने कहा कि शासन को चाहिए कि जिस दिन लॉकडाउन करना हो इसकी सूचना 24 घंटे पहले जारी करे ताकि व्यापारियों को वस्तु स्थिति का पता लग सके उसी अनुसार वह सामग्री बनाए। वहीं तालाबंदी के भय से ग्राहकों में भी सामग्री खरीदने की होड़ बनी रहती है। यदि पूर्व में ही सूचना जारी हो जाए तो कम से कम बाजार में लगने वाली भीड़ अधिक न हो। लोग आसानी से सामान खरीद सके, लेकिन प्रशासन एनवक्त सूचना जारी करता है जिससे बाजार में भीड़़ बड़ जाती है और कई स्थानों पर जाम की स्थिति बनी रहती है। इस बार शनिवार को तालाबंदी न होने से लोगों में प्रसन्नता देखी गई, क्योंकि इससे ग्राहक और दुकानदार दोनों को ही सुविधा हुई है। हिन्दुस्थान समाचार/ शरद जोशी-hindusthansamachar.in