कोरोनाकाल में रेलवे के दिवंगत 15 लेखाकर्मियों को 50 लाख रुपये का इंश्योरेंस स्वीकृत करने की मांग
कोरोनाकाल में रेलवे के दिवंगत 15 लेखाकर्मियों को 50 लाख रुपये का इंश्योरेंस स्वीकृत करने की मांग
मध्य-प्रदेश

कोरोनाकाल में रेलवे के दिवंगत 15 लेखाकर्मियों को 50 लाख रुपये का इंश्योरेंस स्वीकृत करने की मांग

news

रतलाम, 17 सितम्बर (हि.स.)। भारतीय रेलवे में कार्यरत रेलवे लेखा विभाग के 22000 रेल कर्मचारियों का नेतृत्व करने वाले ऑल इंडिया रेलवे अकाउंट स्टाफ एसोसिएशन ने कोरोनावायरस कोविड के दौरान अपनी सेवाओं के दौरान दिवंगत हुए रेल कर्मचारी उनके परिवारों की सहायता एवं लेखाकर्मियों की लंबित मांगो को लेकर प्रधानमंत्री एवं वित्त आयुक्त को पत्र लिखा है! पत्र की जानकारी देते हुए महामंत्री प्रकाश व्यास ने गुरुवार को बताया कि कोरोनावायरस में लाकडाउन प्रथम के प्रारंभ से भारतीय रेलवे के लेखा विभाग के कर्मचारियों ने अपनी सेवाएं निरंतर जारी रखकर कार्यरत रेल कर्मचारियों एवं सेवानिवृत्त रेल कर्मचारियों के मासिक वेतन , पेंशन, निपटारा एवं अन्य भुगतान लगातार अनलॉक 4 तक लगातार अपनी सेवाएं देकर भुगतान किए, लेकिन इस कोरोनावायरस महामारी के दौरान भारतीय रेलवे के लगभग 15 लेखाकर्मियों को अपनी जान गवाना पड़ी। प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर जिस प्रकार से पैरामेडिकल एवं पुलिस कर्मियों को कोरोनावायरस कोविड-19 के अंतर्गत 50 लाख का इंश्योरेंस स्वीकृत किया है वही इंश्योरेंस दिवंगत लेखा कर्मियों के परिवारों को भी इसी तरह भुगतान कर राहत की मांग की है! इसी प्रकार भारतीय रेलवे के वित्त आयुक्त श्रीमती मंजुला रंगराजन को पत्र द्वारा अवगत कराया कि भारतीय रेलवे पर 22 हजार का लेखा कर्मियों का केडर है पिछले 10 वर्षों से लेखा कर्मियों के पद नाम परिवर्तन की मांग एसोसिएशन द्वारा की जा रही है । जिससे वर्तमान में डिजिटल इकोनामी एवं प्राइवेटाइजेशन को देखते हुए प्राइवेट सेक्टर के लेखा कर्मचारियों को फाइनेंस मैनेजर तक के पदनाम दिए गए हैं जिससे लेखा कर्मियों को अपने पदनाम से कम आका जाता है, एसोसिएशन की मांग है कि लेखा लिपिक को परिवर्तित पदनाम असिस्टेंट अकाउंटेंट, जूनियर अकाउंट असिस्टेंट को जूनियर अकाउंटेंट, अकाउंट असिस्टेंट को सीनियर अकाउंटेंट, सीनियर अकाउंट असिस्टेंट को चीफ अकाउंटेंट, स्टाक वेरीफायर को जूनियर स्टोर ऑडिटर, सीनियर स्टोर वेरीफायर को सीनियर स्टोर ऑडिटर, सीनियर सेक्शन ऑफिसर को अकाउंट ऑफिसर, सीनियर ट्रैवलिंग अकाउंट इंस्पेक्टर को अकाउंट ऑफीसर स्टेशन इंस्पेक्शन, सीनियर इंस्पेक्टर आफ स्टार्स अकाउंट को अकाउंट ऑफिसर स्टोर इन्फेक्शन किया जाए! व्यास ने बताया कि अन्य मांगे जिनमें 5 प्रतिशत सीनियर अकाउंटेंट असिस्टेंट अनक्वालिफाइड सेक्शन ऑफिसर मैं पदोन्नति, सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार 4 साल पश्चात 5400 ग्रेड पे प्रदान करना, पांचवें वेतन आयोग के एरियर भुगतान को लेकर आदि मांगों पर भी ध्यान आकर्षित किया गया है , जिससे कार्यरत लेखाकर्म एवं सेवानिवृत्त लेखा कर्मियों को लाभ हो सके! हिन्दुस्थान समाचार/ शरद जोशी-hindusthansamachar.in