कृषि कार्य के हर चरण में शासन देगी किसानों का साथ - खाद्य मंत्री सिंह
कृषि कार्य के हर चरण में शासन देगी किसानों का साथ - खाद्य मंत्री सिंह
मध्य-प्रदेश

कृषि कार्य के हर चरण में शासन देगी किसानों का साथ - खाद्य मंत्री सिंह

news

अनूपपुर, 22 सितम्बर (हि.स.)। कृषि एवं अनुसांगिक कृषि व्यवसाय जैसे पशुपालन एवं मत्स्यपालन अनूपपुर क्षेत्र सहित सम्पूर्ण प्रदेश की अर्थव्यवस्था का आधार हैं। समग्र विकास की कल्पना कृषि के उत्थान से ही सम्भव है। शासन सदैव किसानों के हितों को सर्वोच्च प्राथमिकता देती है। हर पहलू चाहे खाद, बीज की उपलब्धता हो या आधुनिक खेती के लिए उपकरणो की आवश्यकता, सुव्यवस्थित उपार्जन प्रक्रिया से कृषकों को उनकी उपज के अच्छे दाम सुनिश्चित करने के साथ-साथ मौसम की विसंगतियों में फसल बीमा एवं आरबीसी के माध्यम से राहत, सरकार सदैव कृषकों के हितों के संरक्षण एवं आय के संवर्धन हेतु कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है। खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने गरीब कल्याण सप्ताह के अवसर पर मंगलवार को आयोजित सबको साख- सबका विकास कार्यक्रम में उपस्थित कृषकों, मत्स्यपालकों एवं पशुपालकों को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि केसीसी के माध्यम से शून्य प्रतिशत ब्याज पर किसानों को आजीविका संवर्धन हेतु कार्यशील पूँजी ऋण उपलब्ध कराने हेतु सहकारी समितियों एवं बैंक को 800 करोड़ रुपये प्रदान किए गए हैं। उक्त सुविधा का लाभ पशुपालकों एवं मत्स्यपालको को भी होगा। डेयरी एवं मत्स्यपालन गतिविधियों हेतु उक्त सुविधा के माध्यम से पशुपालक एवं मत्स्यपालक अपनी आजीविका में सुधार हेतु प्रयास कर सकेंगे। जिले के कृषकों सहित पशुपालक एवं मत्स्यपालकों से उक्त व्यवस्था का लाभ लेने की अपील की है एवं विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि योजनांतर्गत हितलाभ से समस्त पात्रों को अवगत कराएँ एवं मार्गदर्शन प्रदान कर आजीविका में सुधार हेतु उद्यम करने के लिए प्रेरित करें। अनूपपुर जिले में चिलिंग प्लांट का जीर्णोधार किया जाएगा। जिससे पशुपालकों को अपने उत्पाद के विक्रय में सुविधा हो एवं सम्बंधित रोजगार का सृजन हो। उप संचालक पशु चिकित्सा सेवाएँ डॉ वीपीएस चौहान ने सबको साख-सबका विकास कार्यक्रम के बारे में बताया शासन की मंशानुसार किसानों को साख सुविधा उपलब्ध कराने हेतु प्रयास किए जा रहे हैं। जिले में 20542 किसानो को क्रेडिट कार्ड के माध्यम से 42 करोड़ का कार्यशील पूँजी ऋण वितरित किया गया है। जिनमें से सहकारी बैंक की 5 शाखाओं एवं समितियों के माध्यम से 6.40 करोड़ रुपए के ऋण वितरित किए गए हैं। इसके साथ ही 64 मत्स्यपालकों को 5 लाख एवं 72 पशुपालकों को 19.13 लाख रुपए कार्यशील पूँजी उपलब्ध कराई जा चुकी है। ऋण वितरण की प्रक्रिया अभी जारी है। हितग्राहियों के प्रकरण प्राथमिकता के साथ बैंकों को भेजे जा रहे हैं, जिनमें प्राथमिकता से कार्यवाही हेतु सम्बंधित बैंकों को निर्देश दिए गए हैं। हितग्राहियों को वितरित किया हितलाभ खाद्य मंत्री ने हितग्राहियों को हितलाभ का सांकेतिक रूप से वितरण किया। जिसमे ग्राम परसवार के पशुपालक बुद्घसेन पटेल को 18 हजार रुपए, ग्राम धिरौल के जगदंबिका सिंह को 18 हजार, ग्राम मझगवा के मत्स्यपालक भगवानदीन को 4 हजार 600 रुपये, ग्राम पसला के मत्स्यपालक मन्नूलाल राठोर को 15 हजार का कार्यशील पूँजी ऋण चेक प्रदान किया गया। हिन्दुस्थान समाचार/ राजेश शुक्ला-hindusthansamachar.in