कमलनाथ ने किया लोकतंत्र के चौथे स्तंभ का अपमानः रजनीश अग्रवाल
कमलनाथ ने किया लोकतंत्र के चौथे स्तंभ का अपमानः रजनीश अग्रवाल
मध्य-प्रदेश

कमलनाथ ने किया लोकतंत्र के चौथे स्तंभ का अपमानः रजनीश अग्रवाल

news

भोपाल, 16 अक्टुूबर (हि.स.)। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शुक्रवार को जिस तरह से पत्रकार बंधुओं के साथ व्यवहार किया है वह शर्मनाक है। यह लोकतंत्र के चौथे स्तंभ का अपमान है। इस तरह की अवहेलना, अपमान करते हुए कमलनाथ जिस तरह से मीडिया से कतरा रहे हैं, उससे यह साबित होता है कि कमलनाथ पत्रकारों के तीखे सवालों का सामना नहीं कर पा रहे हैं। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने मीडिया से चर्चा के दौरान कही। अग्रवाल ने कहा कि कमलनाथ कहते है मैं पत्रकारों से दूर रहता हूं। पत्रकार सिर्फ सवाल ही तो पूछते हैं। कमलनाथ के ऐसे कौन से काले कारनामे हैं, जिनके उजागर हो जाने का डर उन्हें सता रहा है। कमलनाथ पत्रकारों के ऐसे कौन से सवालों से बचना चाहते हैं, जिनका सामना करने का साहस उनमें नहीं है। अग्रवाल ने कहा कि पत्रकारों से संवाद की जो गर्मजोशी और मीडिया के प्रति जैसी संवेदना मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान में है, कमलनाथ में नहीं। उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार ने जिस प्रकार 15 महीनों में पत्रकारों और मीडिया के साथ अन्याय करने का काम किया वह किसी से छिपा नहीं है। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री, प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ पत्रकारों से इस तरह का व्यवहार करके वास्तव में प्रदेश की जनता को अंधेरे में रखना चाहते हैं, उसकी आंखों में धूल झोंकना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और उसके नेताओं ने आपातकाल के दौरान भी लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर प्रहार करके लोकतंत्र को कमजोर करने का काम किया था और वे अब भी मीडिया का गला घोंटने का प्रयास कर रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/केशव दुबे/राजूू-hindusthansamachar.in