कमलनाथ ने उजागर की कांग्रेस की महिला विरोधी,दलित विरोधी, सामंतवादी सोच: भाजपा
कमलनाथ ने उजागर की कांग्रेस की महिला विरोधी,दलित विरोधी, सामंतवादी सोच: भाजपा
मध्य-प्रदेश

कमलनाथ ने उजागर की कांग्रेस की महिला विरोधी,दलित विरोधी, सामंतवादी सोच: भाजपा

news

भोपाल, 18 अक्टूबर (हि.स.)। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा, अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालसिंह आर्य तथा वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा मंत्री इमरती देवी के बारे में की गई टिप्पणी की कड़ी निंदा करते हुए उसे महिला विरोधी, दलित विरोधी तथा कांग्रेस की सामंतवादी सोच की परिचायक बताया है। पार्टी नेताओं ने कहा कि कमलनाथ की यह टिप्पणी कांग्रेस पार्टी और उसके नेताओं की महिलाओं को प्रति उसी सोच को प्रदर्शित कर रही है, जिससे प्रभावित कांग्रेस के लोग कभी किसी महिला नेत्री को तंदूर में झोंक देते हैं, तो कभी किसी को ‘टंचमाल’ तथा ‘सजावट की वस्तु’ कहते हैं, या फिर अपनी ही महिला नेत्रियों से अभद्रता करने वालों की पीठ पर हाथ रखकर उन्हें संरक्षण देते हैं। पार्टी नेताओं ने कहा कि अब कांग्रेस के दंभी और मगरूर नेताओं को सबक सिखाने का समय आ गया है और प्रदेश की जनता उनकी इस बेहूदा टिप्पणी का करारा जवाब देगी। अपने शब्द वापस लें, हर बेटी से माफी मांगें कमलनाथः शिवराजसिंह चौहान मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कमलनाथ की टिप्पणी को ओछी मानसिकता की प्रतीक बताते हुए कहा है कि इमरती देवी उस गरीब किसान की बेटी का नाम है, जिसने गाँव में मजदूरी करने से शुरुआत की और आज जनसेवक के रूप में राष्ट्रनिर्माण में सहयोग दे रही हैं। उन्होंने कहा कि पहले कांग्रेस ने मुझे ‘भूखा-नंगा’ कहा और अब एक महिला के लिए ‘आइटम’ जैसे शब्द का उपयोग कर कमलनाथ ने अपनी सामंतवादी सोच फिर उजागर कर दी। चौहान ने कहा कि खुद को ‘मर्यादा पुरुषोत्तम’ बताने वाले ऐसी ‘अमर्यादित भाषा’ का प्रयोग कर रहे हैं? उन्होंने कहा कि बेहतर होगा कि कमलनाथ अपने शब्द वापिस लें और इमरती देवी सहित प्रदेश की हर बेटी से माफी माँगें। यह नारीशक्ति का अपमान है, जनता देगी जवाबः विष्णुदत्त शर्मा भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की टिप्पणी की निंदा करते हुए कहा कि नवदुर्गा पर्व के दौरान कमलनाथ ने भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी बहन इमरती देवी जो अनुसूचित जाति की हैं, के बारे में जिस तरह का बयान दिया है, वह शर्मनाक है। कमलनाथ ने इमरती देवी को ‘आयटम’ कहकर समूची नारीशक्ति का अपमान करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि देश की नारीशक्ति के इस अपमान को लेकर प्रदेश जनता कमलनाथ और कांग्रेस पार्टी को करारा जवाब देगी। कमलनाथ के बयान से उजागर हुई कांग्रेस की संस्कृतिः लालसिंह आर्य भारतीय जनता पार्टी, अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालसिंह आर्य ने कहा कि बहन इमरती देवी को लेकर जिस तरह की अपमानजनक भाषा का प्रयोग किया है, वह निंदनीय है और मैं उसका विरोध करता हॅू। नवदुर्गा पर्व के दौरान ऐसा बयान घटिया एवं दिवालिया मानसिकता का सबूत है। उन्होंने कहा कि यह एक दलित बहन का यह अपमान देशभर की महिलाओं, बहनों का अपमान है। इस बयान से कांग्रेस की संस्कृति उजागर होती है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ को अपनी इस टिप्पणी के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगना चाहिए साथ ही सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से आग्रह है कि ऐसी सोच वाले व्यक्ति को तत्काल पार्टी से निलंबित करें। सबक सिखाने का समय आ गयाः ज्योतिरादित्य सिंधिया वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कमलनाथ की टिप्पणी पर रोष प्रकट करते हुए कहा है कि एक गरीब और मजदूर परिवार से आगे आईं दलित नेता इमरती देवी जी को आइटम और जलेबी कहना अत्यंत निंदनीय और आपत्तिजनक है। श्री सिंधिया ने कहा कि कमलनाथ जी की यह टिप्पणी महिलाओं और दलितों के प्रति उनकी मानसिकता को भी दर्शाती है। उन्होंने कहा कि महिलाओं के साथ ही समूचे दलित समाज का अपमान करने वाले ऐसे मगरूर नेता को सबक सिखाने का समय आ गया है। हिन्दुस्थान समाचार/केशव दुबे-hindusthansamachar.in