कटनी जिले में 4109 नवनिर्मित प्रधानमंत्री आवास गृहों में हुआ गृह प्रवेश
कटनी जिले में 4109 नवनिर्मित प्रधानमंत्री आवास गृहों में हुआ गृह प्रवेश
मध्य-प्रदेश

कटनी जिले में 4109 नवनिर्मित प्रधानमंत्री आवास गृहों में हुआ गृह प्रवेश

news

कटनी, 12 सितम्बर (हि.स.)। कटनी जिले में कोविड-19 की महामारी में लॉकडाउन से लेकर अब तक की अवधि में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण में कुल 4109 आवास पूर्ण किये गये हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से मध्यप्रदेश के प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अन्तर्गत 1 लाख 75 हजार हितग्राहियों के बन चुके आवासों में डिजिटल गृह प्रवेश कराया। गृह प्रवेश कार्यक्रम का सीधा प्रसारण फेसबुक, ट्विटर, क्षेत्रीय चेनल्स एवं रेडियो पर किया गया। साथ ही वर्चुअल आधार पर हितग्राही वेबकास्ट के माध्यम से जुड़े। कटनी में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में सीईओ जिला पंचायत जगदीश चन्द्र गोमे ने जिले के 10 हितग्राहियों को सांकेतिक रुप से चाबी भेंट कर नवनिर्मित आवासों में गृह प्रवेश कराया। इस मौके पर अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी गौरव पुष्प, परियोजना अधिकारी आवास सूरज शर्मा, आजीविका मिशन की जिला प्रबंधक शबाना बेगम सहित प्रधानमंत्री आवास योजना से लाभान्वित बड़वारा और अन्य विकासखण्डों के हितग्राही भी उपस्थित रहे। गृह प्रवेशम कार्यक्रम में मध्यप्रदेश के प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत नवनिर्मित एक लाख 75 हजार से अधिक आवासों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रिमोट से पट्टिका का अनावरण कर हितग्राहियों को एक साथ डिजिटल गृह प्रवेश कराया। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने धार, ग्वालियर और सिंगरौली जिले की ग्राम पंचायतों से एक-एक हितग्राही परिवारों से सीधी बातचीत की। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि कोरोना महामारी के संकट काल में पूरे देश में 18 लाख प्रधानमंत्री आवास और अकेले मध्यप्रदेश में 1 लाख 75 हजार आवासों के निर्माण का कार्य पूरा हुआ है। आपदा को अवसरमें बदलने का यह श्रेष्ठ और सकारात्मक उदाहरण है। उन्होंने कहा कि अमूमन आवास को पूर्ण करने में 125 दिन का समय लगता है। लेकिन शहरों से ग्रामीण क्षेत्रों में लौटे प्रवासी श्रमिकों के योगदान से 45 से 60 दिनों में ही आवास निर्माण के कार्य पूर्ण हुये हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि गांवों में आत्म विश्वास बढऩे से आत्मनिर्भर भारत का संकल्प भी मजबूत होता है। गरीब कल्याण रोजगार अभियान में 23 हजार करोड़ रुपये के काम अब तक हुये हैं। जिनसे मुश्किल की घड़ी में ग्रामीण अर्थव्यवस्था में बहुत बड़ा योगदान मिला है। प्रधानमंत्री मोदी ने प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को सरकार की अन्य 27 योजनाओं से जोडक़र लाभ प्रदान करने की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की पहल की सराहना भी की। जब तक दवाई नहीं - तब तक ढि़लाई नहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना महामारी के संकट काल में सभी देशवासियों से संक्रमण से बचाव की सभी सावधानियां दृढ़ता से अपनाने की अपील भी अपने संबोधन में की। उन्होने कहा कि ’’कोरोना की जब तक दवाई नहीं - तब तक ढि़लाई नहीं’’ और ’’दो गज की दूरी-मास्क है जरुरी’’ का सख्ती से पालन करें। 10 हितग्राहियों को भेंट की आवासों की चाबी गृह प्रवेशम कार्यक्रम में प्रधानमंत्री के संबोधन के पश्चात जिलास्तरीय कार्यक्रम में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जगदीश चन्द्र गोमे ने 10 हितग्राहियों को सांकेतिक चाबी भेंट कर नवनिर्मित प्रधानमंत्री आवासों में गृह प्रवेश कराया। इनमें जनपद पंचायत कटनी के कछगवां देवरी की रेखा राजेन्द्र कोल, ममता रतन भूमिया, इमलिया की शांति बाई मनबोधी, गैंतरा के बालकिशन और रमेश पटैल तथा बड़वारा जनपद के हितग्राही वजीरा कोल, गुलजारी चौधरी, छोटी बाई चौधरी, प्राणनाथ कोल और राजेश कुमार चौधरी शामिल हैं। मुख्य कार्यपालन अधिकारी गोमे ने बताया कि कटनी जिले में लॉकडाउन की अवधि में अब तक प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण में 4109 आवास पूर्ण किये गये हैं। जिनमें कटनी जनपद में 569, विजयराघवगढ़ में 326, रीठी में 422, बड़वारा में 1240, ढीमरखेड़ा में 781, बहोरीबंद में 771 प्रधानमंत्री आवास पूर्ण किये गये हैं। सभी जनपद पंचायतस्तर और ग्राम पंचायत स्तर पर गृह प्रवेशम कार्यक्रम के तहत प्रधानमंत्री का सीधा प्रसारण सोशल मीडिया और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्लेटफॉर्म पर देखा गया और समारोह पूर्वक हितग्राही परिवारों को उनके नवनिर्मित आवासों में गृह प्रवेश कराया गया। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश/राजू-hindusthansamachar.in