ऑनलाइन क्लासेस शुरू करने का आदेश रद्द, स्कूल शिक्षा मंत्री बोले- पहले सुविधाएं जुटाएंगे
ऑनलाइन क्लासेस शुरू करने का आदेश रद्द, स्कूल शिक्षा मंत्री बोले- पहले सुविधाएं जुटाएंगे
मध्य-प्रदेश

ऑनलाइन क्लासेस शुरू करने का आदेश रद्द, स्कूल शिक्षा मंत्री बोले- पहले सुविधाएं जुटाएंगे

news

भोपाल, 07 सितम्बर (हि.स.)। मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल ने सोमवार को नई शिक्षा नीति के तहत शुरू होने वाली 9वीं से 12वीं तक की ऑनलाइन क्लासेस को रद्द कर दिया। बताया गया है कि स्कूल शिक्षा विभाग और माध्यमिक शिक्षा मंडल के बीच आपसी सामंजस ना होने के कारण यह फैसला लिया गया, लेकिन स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने इसका कारण ग्रामीण क्षेत्रों में सुविधाएं नहीं होना बताया है। उन्होंने कहा है कि पहले सुविधाएं जुटाएंगे, फिर ऑनलाइन क्लासेंस शुरू करेंगे। उन्होंने सोमवार देर शाम मीडिया से बातचीत में कहा है कि ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी 50 प्रतिशत से अधिक जगह पर ऑनलाइन सुविधा से बच्चों की पढ़ाई होना संभव नहीं है। पहले हम सुविधाएं जुटाएंगे और उसके बाद ऑनलाइन क्लासेस शुरु करेंगे। कई बच्चों के पास स्मार्टफोन नहीं है और अन्य सुविधाएं नहीं है, ऐसे में हम परीक्षा लेते तो यह संभव नहीं था इसलिए व्यवहारिक दृष्टि से इसे देखते हुए फिलहाल इस आदेश को निरस्त किया गया है और जब व्यवस्थाएं दुरुस्त कर ली जाती जाएंगे तब ऑनलाइन क्लासेस शुरु की जाएगी। स्कूल शिक्षा मंत्री परमार ने कहा कि केंद्र सरकार के निर्देश के अनुसार हम नीचे तक के स्कूलों की स्थिति को जानेंगे और उनसे राय लेंगे कि कैसे बच्चों की पढ़ाई संभव हो सके, उसके बाद जल्द ऑनलाइन क्लासेज शुरू की जाएंगी। गौरतलब है कि माध्यमिक शिक्षा मंडल के सचिव ने बीते शुक्रवार को आदेश जारी किया था कि सोमवार, 07 सितम्बर से ऑनलाइन क्लासेस शुरू होगी, लेकिन सोमवार को प्रदेश में कहीं भी ऑनलाइन क्लास शुरू नहीं हुई। अधिकारियों का कहना है कि मंडल का काम परीक्षा लेना और उसके संबंध में नीति निर्धारण करना है। शिक्षा नीति बनाना उनका काम नहीं है। इसी के कारण पीएस स्कूल शिक्षा विभाग ने इस आदेश को निरस्त कर दिया। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश-hindusthansamachar.in