ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए और विकल्पों पर भी विचार कर रही सरकार: मंत्री भूपेन्द्र सिंह
ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए और विकल्पों पर भी विचार कर रही सरकार: मंत्री भूपेन्द्र सिंह
मध्य-प्रदेश

ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए और विकल्पों पर भी विचार कर रही सरकार: मंत्री भूपेन्द्र सिंह

news

भोपाल, 10 सितम्बर (हि.स.)। प्रदेश में ऑक्सीजन का संकट गहराने से प्रशासन और स्वास्थ्य महकमे में हडक़ंप मच गया है। राजधानी भोपाल के कलेक्टर अविनाश लवानिया ने मेडिकल और इंडस्ट्री ऑक्सीजन सप्लायर्स के साथ बैठक कर सख्त निर्देश दिए हैं। वहीं प्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने ऑक्सीजन की कमी को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि सरकार विकल्पों पर भी विचार कर रही है। मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए प्रदेश में हुई मेडिकल ऑक्सीजन की कमी पर कहा कि यह बात ध्यान में आई है कि कुछ ऑक्सीजन की सप्लाई में दिक्कत हुई है। इसका प्लांट महाराष्ट्र में है तथा कुछ आपूर्ति में कठिनाई आ रही है। इस संबंध में माननीय मुख्यमंत्री की वहां के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात हो गई होगी। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश को ऑक्सीजन की कमी ना हो और विकल्पों पर भी सरकार विचार कर रही है। साथ में मध्य प्रदेश कांग्रेस के नेताओं से भी आग्रह करेंगे कि महाराष्ट्र में उनकी सरकार है इसलिए वह भी उद्धव ठाकरे से बात करें कि मध्यप्रदेश की ऑक्सीजन ना रोकी जाए। इसके अलावा नगरीय प्रशासन मंत्री ने राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष की मंत्रियों को चेतावनी देने पर कहा कि इस तरह की कोई बात नहीं हुई है। कल संगठन राष्ट्रीय महामंत्री बी.एल. संतोष ने अनेकों बैठक ली है उसमें माननीय मंत्रियों की भी बैठक थी। मंत्रियों की बैठक में पूर्ण रूप से किसी को दो तो किसी को एक विधानसभा का दायित्व सौंपा गया है। उसकी समीक्षा संतोष जी ने की है और सभी से यह आग्रह और निर्देश दिए हैं कि जिसको जिस विधानसभा का दायित्व दिया गया है वहां अधिकतम समय दें। उपचुनाव की नहीं चिंता, तैयारी पूरी मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने उपचुनाव की चिंता के सवाल पर कहा कि चिंता नहीं है। हम लोगों की तैयारी कई महीनों से चल रही है। हम लोग सभी 27 सीटों पर चुनाव जीत रहे हैं, परंतु चुनाव प्रबंधन में किसी प्रकार की कमी ना रह जाए इसके लिए हमारा राष्ट्रीय नेतृत्व और प्रदेश का नेतृत्व लगातार समीक्षा करता है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री तो सभी जगह जा रहे हैं, अभी बाढ़ के समय भी वह छिंदवाड़ा, होशंगाबाद, सीहोर भी गए। यहां पर तो कोई उपचुनाव था नहीं अभी जिन विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव है उसके समय रहते जो शासकीय कार्यक्रम है। वह आचार संहिता से पहले पूरे हो जाए इसलिए यह कार्यक्रम बने हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय-hindusthansamachar.in