इंदौर में अब रात 10 की बजाय 08 बजे ही बंद हो जाएंगी दुकानें, शादियों में 250 की सीमा निर्धारित
इंदौर में अब रात 10 की बजाय 08 बजे ही बंद हो जाएंगी दुकानें, शादियों में 250 की सीमा निर्धारित
मध्य-प्रदेश

इंदौर में अब रात 10 की बजाय 08 बजे ही बंद हो जाएंगी दुकानें, शादियों में 250 की सीमा निर्धारित

news

इंदौर, 23 नवम्बर (हि.स.)। इंदौर में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए रात 10 बजे से सुबह 06 बजे तक कर्फ्यू लगाया गया था, लेकिन अब यहां रात 8.00 बजे ही सभी दुकानें और प्रतिष्ठान बंद हो जाएंगे। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी मनीष सिंह ने सोमवार शाम को जिले में बढ़ते हुये कोरोना संक्रमण को देखते हुये भारतीय दण्ड प्रक्रिया संहिता-1973 की धारा-144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया है। जारी आदेशानुसार जिला प्रशासन द्वारा शादी में अधिकतम 250 व्यक्तियों की सीमा निर्धारित की गयी है। मालवाहक वाहन और बसें रात में भी चल सकेंगी। जारी आदेशानुसार कार्यक्रमों के आयोजनकर्ता अधिकतम 250 लोगों को आमंत्रित कर सकेंगे। इन आयोजनों हेतु पृथक से अनुमति लेने की आवश्यकता नहीं होगी। आयोजकों को कार्यक्रम की रूपरेखा एवं आमंत्रित सदस्यों की संख्या बताते हुए (अधिकतम 250 के अंदर) संबंधित थाने में लिखित सूचना देकर पावती प्राप्त करनी होगी। इस पावती के आधार पर ही आयोजन स्थल के स्वामी, टेंट संचालक, केटरर आदि द्वारा अपनी सेवाएं दी जा सकेगी अर्थात् 250 से अंदर आमंत्रितों की संख्या सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी आयोजनकर्ता के साथ-साथ आयोजन स्थल स्वामी, टेंट संचालक एवं केटरर (यदि हों तो) की भी रहेगी। इन आयोजनों में कोविड प्रोटोकॉल का पालन किया जाना अनिवार्य होगा। कार्यक्रमों में बारात को छोड़कर अन्य समस्त प्रकार की रैली/यात्रा/जुलूस आदि निकालना पूर्णरूप से प्रतिबंधित रहेगा। केवल विवाह समारोह में 50 बारातियों तक (लाईट/बैंड अतिरिक्त रूप से लगाए जा सकेंगे) की बारात निकाली जा सकेगी। शवयात्रा, जनाजे, अंतिम संस्कार में अधिकतम 50 सदस्य सम्मिलित हो सकेंगे। कलेक्टर ने गत 21 नवम्बर को जारी आदेश में आंशिक संसोधन करते हुए आदेशित किया है कि इन्दौर नगर निगम क्षेत्र तथा महू केंटोनमेंट/नगरीय सीमा क्षेत्र में स्थित समस्त दुकान, कार्यालय, व्यावसायिक संस्थान एवं रेस्टोरेंट रात्रि 8 बजे से प्रातः 6 बजे तक अनिवार्य रूप से बंद रहेंगे। सभी औद्योगिक इकाइयाँ, अस्पताल, दवा दुकानें 24X7 संचालित हो सकेंगी तथा ऐसे संबंधित सभी संस्थानों के सभी कर्मचारियों, डॉक्टर, पैरामेडीकल स्टॉफ आदि की आवाजाही निरंतर हो सकेगी। शादी, ब्याह, बारात संबंधी आयोजन उपरोक्त वर्णित शर्तों के तहत रात्रि 10 बजे तक आयोजित किए जा सकेंगे तथा रात्रि 10 बजे इस श्रेणी के सभी आयोजन बंद करना आयोजनकर्ता/आयोजन स्थल स्वामी/टेंट संचालक/केटरर के लिए अनिवार्य रहेगा। शादी समारोह, केटरर, होटल रेस्टोरेंट आदि में कार्यरत कर्मचारियों, श्रमिक आदि को उनकी गतिविधि हेतु निर्धारित समय-सीमा के उपरान्त भी आवाजाही में कोई प्रतिबंध नहीं रहेगा। अत्यावश्यक कार्यों के लिए इस समय-सीमा में नागरिकों की आवाजाही पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश-hindusthansamachar.in