इंदौरः प्रतिरोधक क्षमता जानने के लिये कराया जाएगा एन्टी बॉडी टेस्ट सीरो-सर्वेलेंस
इंदौरः प्रतिरोधक क्षमता जानने के लिये कराया जाएगा एन्टी बॉडी टेस्ट सीरो-सर्वेलेंस
मध्य-प्रदेश

इंदौरः प्रतिरोधक क्षमता जानने के लिये कराया जाएगा एन्टी बॉडी टेस्ट सीरो-सर्वेलेंस

news

इंदौर, 23 जुलाई (हि.स.)। इंदौर जिले में कोरोना संक्रमण के संबंध में प्रतिरोधक क्षमता को जानने के लिये एन्टी बॉडी टेस्ट सीरो-सर्वेलेंस करवाया जायेगा। इसके लिये विभिन्न दलों का गठन होगा। इसके तहत ब्लड (सीरम) के नमूने लेकर जांच की जायेगी। जिले में कोरोना के संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिये समाज की सहभागिता को बढ़ाया जायेगा। उन्हें जागरूक किया जायेगा कि वे स्वयं आगे आकर जांच कराये। लक्षण दिखाई देने पर संबंधित चिकित्सकों को बताये तथा इलाज कराये। इंदौर में कोरोना की स्थिति नियंत्रण में है फिर भी विशेष सावधानी बरते और व्यापक इंतजाम रखने की जरूरत है। यह निर्देश गुरुवार को अतिरिक्त मुख्य सचिव तथा कोरोना के संबंध में इंदौर जिले के प्रभारी मोहम्मद सुलेमान ने कोरोना की स्थिति की समीक्षा की दौरान दिये। बैठक में संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा, कलेक्टर मनीष सिंह, नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल, इंदौर विकास प्राधिकरण के सीईओ विवेक श्रोत्रिय, जिला पंचायत सीईओ रोहन सक्सेना, मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ. ज्योति बिंदल सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। मोहम्मद सुलेमान ने इंदौर जिले में कोरोना की स्थिति की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने भविष्य की संभावनाओं तथा रणनीति पर चर्चा कर इंदौर में अब तक किए गए कार्यों पर संतोष जताया। उन्होंने इंदौर में चलाए गए किल कोरोना अभियान सहित कलेक्टर मनीष सिंह द्वारा पेड कोरेन्टाईन सेंटर और होम आइसोलेशन सेंटर के नवाचारों को भी सराहा। उन्होंने कहा कि इंदौर में कोरोना के उपचार के लिए जिला प्रशासन द्वारा समुदाय की सहभागिता भी सुनिश्चित की गई है, यह एक अच्छा प्रयास है। ज़िले में जब कोरोना का प्रकोप बढ़ रहा था तब ऐसे समय में निजी चिकित्सकों की क्लीनिक खुलवाये गये। फीवर क्लीनिक का बेहतर संचालन किया गया इससे कोविड मरीज़ों की समय पर पहचान में महत्वपूर्ण मदद मिली। सुलेमान ने कहा कि जिले में यह सुनिश्चित कराया जाये कि अगर किसी अस्पताल में मरीज का इलाज चल रहा है और वह कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो उसका सम्पूर्ण इलाज उसी अस्पताल में हो। यह नहीं हो कि कोरोना पॉजिटिव पाये जाने पर वह अस्पताल किसी अन्य अस्पताल के लिये उसे डिस्चार्ज कर दें। उन्होंने कहा कि इंदौर जिले में कोरोना की स्थिति हाल फिलहाल नियंत्रण में है। कोरोना से निपटने के लिये बेहतर काम किये जा रहे है। अभी विशेष सावधानी रखने की जरूरत है। आगामी समय के लिये भी व्यापक इंतजाम सुनिश्चित करना होंगे। कोरोना से निपटने के लिये तकनीकी का बेहतर उपयोग किया जाये। उन्नत तरीके से सेम्पलों की जांच करवाये। इसके लिये विस्तृत प्लान बनाये। कोरोना के संबंध में विस्तृत अध्ययन करने तथा प्रतिरोधक क्षमता की जांच के लिये एन्टी बॉडी टेस्ट सीरो सर्वेलेंस करवाये। इसके लिये विशेष दल का गठन किया जाये। इन्हें प्रशिक्षण दिया जाये। बैठक में बताया गया कि पिछले सप्ताह के दौरान मरीजों की संख्या बढ़ी है, स्थिति फिर भी नियंत्रण में है। व्यापक इंतजाम है। कान्टेक्ट ट्रेसिंग पर विशेष ध्यान दिया जाये। जिनके घर में पर्याप्त स्थान है, उन्हें घर में एकांतवास किया जाये। जिनके घरों में जगह नहीं है, उन्हें संस्थागत एकांतवास में रखा जाये। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश तोमर/राजू-hindusthansamachar.in