अवैध कालोनियां बनाने के मामले में भाजपा नेताओं समेत छ: कालोनाईजर्स पर धोखाधडी के नौ मामले दर्ज
अवैध कालोनियां बनाने के मामले में भाजपा नेताओं समेत छ: कालोनाईजर्स पर धोखाधडी के नौ मामले दर्ज
मध्य-प्रदेश

अवैध कालोनियां बनाने के मामले में भाजपा नेताओं समेत छ: कालोनाईजर्स पर धोखाधडी के नौ मामले दर्ज

news

रतलाम, 13 सितम्बर (हि.स.)। जिले के जावरा औद्योगिक क्षेत्र थाना पुलिस ने नियमों का उल्ंलघन कर अवैध कालोनियां बनाकर प्लाट बेचने के मामले में मुख्य नगर पालिका अधिकारी कैशवसिंह सगर पुत्र भोगीराम सगर की रिपोर्ट पर रविवार को पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष अनिल दसेडा, भाजपा नेता राहुल ओस्तवाल समेत कुल छ: कालोनाईजर्स पर धोखाधडी के नौ अलग-अलग प्रकरण धारा 420 भादवि 339 (ग) मध्यप्रदेश नगर पालिका अधिनियम 1961 के तहत दर्ज किए हैं। इनमें कालोनाईजर्स संजय पुत्र हिरालाल गंगवाल एवं राहुल पुत्र चंद्रप्रकाश ओस्तवाल पर अलग-अलग तीन-तीन प्रकरण दर्ज किए गए। पुलिस के अनुसार कॉलोनाइजर राहुल ओस्तवाल द्वारा सत्य साईं विहार कॉलोनी बनाई गई, जिसमें विकास कार्य अपूर्ण है, बंधक के उपखंडों का पंजीयन नहीं करवाया है, बिना अनुमति के विक्रय किया गया है, बिना विकास अनुमति प्राप्त किए कॉलोनी में अपूर्ण विकास किया गया है, कॉलोनी में बिना स्वीकृति प्राप्त किए भवन निर्माण कार्य करवाया गया है। उनके द्वारा तिलक विहार कॉलोनी भी बनाई गई। इसमें विकास कार्य अपूर्ण है, बगीचे की भूमि के साथ छेड़छाड़ करके भूमि का क्षेत्रफल कम किया गया है, कॉलोनी में 25 प्रतिशत भूखंडों का पंजीयन नहीं करवाया गया है, कॉलोनी में गंदे पानी की निकासी व पेयजल की पर्याप्त व्यवस्था न की गई है, कॉलोनी में बिना स्वीकृति प्राप्त किए भवन का निर्माण कार्य करवाया है। इसी प्रकार कॉलोनाइजर द्वारा उनकी अन्य कॉलोनी अरिहंत कॉलोनी के पास ग्राम कुम्हारी की भूमि पर कॉलोनी विकसित कर विकास कार्य अपूर्ण है, कॉलोनी में 25 प्रतिशत भूखंडों का पंजीयन नहीं करवाया गया है, कॉलोनी में बिना स्वीकृति प्राप्त किए भवनों का निर्माण कार्य करवाया गया है। पेयजल व जल निकासी के अपर्याप्त इंतजाम कॉलोनाइजर प्रकाशचंद्र पुत्र पारसमल कोठारी निवासी बजाज खाना द्वारा बन्नाखेड़ा क्षेत्र में आदर्श नगर कॉलोनी का निर्माण किया गया, जिसमें विकास कार्य अपूर्ण होने, पेयजल व जल निकासी की पर्याप्त व्यवस्था नहीं होने तथा कॉलोनी में बिना स्वीकृति प्राप्त किए भवनों का निर्माण कार्य करवाया है। राजेंद्र जयंत परिसर कॉलोनी के रहवासी नारकीय जीवन जीने के लिए विवश कॉलोनाइजर पूर्व नपाध्यक्ष अनिल कुमार दसेड़ा व विजय कुमार दसेड़ा तथा शौकत खां द्वारा खाचरौद रोड़ पर सेजावता क्षेत्र में राजेंद्र जयंत परिसर कॉलोनी का विकास किया गया। इसमें नाली निर्माण अपूर्ण होने व जल निकासी नहीं होने से नारकीय जीवन जीने के लिए नागरीकगण विवश है। कॉलोनी में तीनों बगीचे विकसित नहीं है। कॉलोनी का रोड़ भी क्षतिग्रस्त है। कॉलोनी में प्रस्तावित एमआर-चार रोड़ में अवैधानिक तरीके से प्लॉट विक्रय कर उन पर क्रेतागणों द्वारा करीब छ: मकान निर्मित कर लिए गए हैं, जो आपत्तिजनक होकर आपराधिक कृत्य है। कॉलोनाइजर ने नियमों का पालन नहीं किया कॉलोनाइजर मोहम्मद आसिफ मिर्जा निवासी भीमाखेड़ी फाटक जावरा द्वारा मंदसौर रोड पर कॉलोनी बनाई गई, जिसमें कॉलोनाइजर द्वारा न तो नगर तथा ग्राम निवेश विभाग से कॉलोनी का मानचित्र अनुमोदित करवाया है और ना ही मध्यप्रदेश नगर पालिका (कॉलोनाइजर का रजिस्ट्रीकरण, निबंधन तथा भार्ते) नियम 1998 के अंतर्गत कॉलोनी के विकास की अनुमति प्राप्त की। कॉलोनी विकास की अनुमति लिए बिना तीन कॉलोनियों बना ली कॉलोनाइजर संजय पुत्र हीरालाल गंगवाल निवासी जावरा द्वारा सुजावता भूमि सर्वे क्रमांक 1/32, 1/33, 1/34 पर संजय कॉम्प्लेक्स, इसके समीप सर्वे क्रमांक 1/28/2 मिन 2, 1/28/2 मिन 3 तथा इसके समीप सर्वे क्रमांक 1/1/2, 1/3/2, 1/3/3, 1/2/2, 1/2/1, 1/3/1/2, 1/28/1 मिन 1, 1/28/1 मिन 2, 1/28/1 मिन 3, 1/28/1 मिन 4 पर तीन कॉलोनियों का निर्माण किया गया। तीनों कॉलोनियों में कॉलोनाइजर द्वारा न तो नगर तथा ग्राम निवेश विभाग से कॉलोनी का मानचित्र अनुमोदित करवाया है तथा ना ही मध्यप्रदेश नगर पालिका (कॉलोनाइजर का रजिस्ट्रीकरण, निबंधन तथा भार्ते) नियम 1998 के अंतर्गत कॉलोनी के विकास की अनुमति प्राप्त की और ना ही आश्रय शुल्क जमा करवाया है तथा कॉलोनी रजिस्ट्रीकरण प्रमाण पत्र भी प्राप्त नहीं किया है। तीनों कॉलोनी पूर्ण रूप से अवैध है। हिन्दुस्थान समाचार/ शरद जोशी-hindusthansamachar.in