अतिक्रमण हटाने के विरोध में महिला ने खुद को लगाई आग, गरमाई राजनीति
अतिक्रमण हटाने के विरोध में महिला ने खुद को लगाई आग, गरमाई राजनीति
मध्य-प्रदेश

अतिक्रमण हटाने के विरोध में महिला ने खुद को लगाई आग, गरमाई राजनीति

news

भोपाल, 30 जुलाई (हि.स.)। मध्यप्रदेश के देवास जिले में सतवास थाना क्षेत्र के अतवास गांव में दो दिन पहले यानी बीते मंगलवार को राजस्व विभाग और पुलिस की संयुक्त टीम शासकीय जमीन से अतिक्रमण हटाने के लिए पहुंची थी। इस दौरान गांव के लोगों ने टीम पर हमला कर दिया। इस दौरान खड़ी फसल पर जेसीबी चलते देखकर एक महिला ने कार्रवाई रुकवाने के लिए पेट्रोल डालकर खुद को आग लगा दी। इस मामले का गुरुवार सुबह सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद प्रदेश की राजनीति गरमा गई है। कांग्रेस नेताओं ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा है। पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने गुरुवार को ट्वीट के माध्यम से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए उन्होंने महिला के आग में जलते हुए वीडियो पोस्ट किया है। साथ ही लिखा है कि -‘बेहद दुखद तस्वीर-जो खुद को मामा कहलवाते हैं, उनके राज में आज एक बहन खुद को आग के हवाले कर रही हैं। देवास जिले के सतवास में खड़ी फसल पर जेसीबी चलवाने का विरोध करते हुए एक बेबस महिला ने खुद को आग के हवाले कर दिया।’ उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा है कि-‘मैं सरकार से मांग करता हूं कि पूरे मामले की जांच करवाकर दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो, घायल महिला का संपूर्ण इलाज सरकार करवाये, पीडि़त परिवार की हर संभव मदद हो।’ वहीं, पूर्व केन्द्रीय मंत्री और कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव ने ट्वीट किया है कि - ‘देवास जिले के सतवास की घटना जहां प्रशासन ने किसान की खड़ी फसल पर जेसीबी चला दी, जिसकी वजह से किसान की पत्नी ने आत्मघाती कदम उठाते हुए स्वयं को आग के हवाले कर दिया। शिवराज सिंह जी खड़ी फसल पर जेसीबी चलाना कहाँ का न्याय है?’ इसके अलावा मप्र कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर पर ट्वीट किया गया है कि - ‘शिवराज का जंगलराज, सरकार की प्रताडऩा से तंग आकर आग लगाई, देवास जिले के सतवास में खड़ी फसल पर जेसीबी चलवाने के शिवराज के फैसले का विरोध करते हुये एक बेबस महिला ने खुद को आग के हवाले कर दिया। शिवराज जी, महामारी और मौत के बीच तो कम से कम जनता को मत मारो..! "शवराज चरम पर है" यह है मामला दरअसल, देवास के सतवास थाना क्षेत्र के समीपस्थ ग्राम अतवास में बीते मंगलवार को शासकीय भूमि पर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के दौरान एक महिला ने खुद को आग लगाकर आत्मदाह का प्रयास भी किया। इससे वह करीब 20 प्रतिशत झुलस गई। उसे इलाज के लिए इंदौर भेजा गया है। इस दौरान राजस्व और पुलिस विभाग की टीम पर 20 से अधिक ग्रामीणों ने हमला कर दिया। इसमें पटवारी किशोर चावरे के कान में गंभीर चोट पहुंची, जिससे उन्हें सुनाई देना बंद हो गया। राजस्व निरीक्षक राजेंद्र धुर्वे व पटवारी दिलीप जाट को भी चोट पहुंची। मामले में पुलिस ने मंगलवार देर रात 11 बजे शासकीय कार्य में बाधा, बलवा सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया। बताया गया है कि फरियादी किशोर चावरे की शिकायत पर आरोपित छोटा, रमजान खां, शरीफ खांन, शेर खां, हबीब खां, मोइन खां, शहीद खां, सफदर खां, हमीद खां, अनीसा बी, साबरा बी के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। बुधवार को पटवारी संघ ने आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए जिलाधीश के नाम तहसीलदार प्रियंका चौरसिया को ज्ञापन भी सौंपा है। इस मामले का गुरुवार सुबह सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हुआ, जिसमें महिला को आग लगाते हुए दिखाया गया है। इसके बाद कांग्रेस हमलावर हो गई है। कांग्रेस ने शिवराज सरकार को महिला के आग लगाने पर घेरा है, लेकिन अतिक्रमण और पुलिस व राजस्व टीम पर हमले को लेकर कुछ भी नहीं कहा है। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश तोमर-hindusthansamachar.in