अंतरसिंग बर्डे ने किया अरूण यादव का बायकाट, कांग्रेस में प्रत्याशी बदलने पर जोर
अंतरसिंग बर्डे ने किया अरूण यादव का बायकाट, कांग्रेस में प्रत्याशी बदलने पर जोर
मध्य-प्रदेश

अंतरसिंग बर्डे ने किया अरूण यादव का बायकाट, कांग्रेस में प्रत्याशी बदलने पर जोर

news

बुरहानपुर, 17 सितम्बर (हि.स.)। आगामी नेपानगर विधानसभा उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने रामकिशन पटेल को अपना उम्मीदवार बनाया है। पटेल दो बार विधानसभा चुनाव हार चुके हैं, लेकिन इसके बावजूद कांग्रेस ने उन पर ही दांव खेला है, लेकिन इससे पार्टी की सेवा में सालों से लगे कांग्रेस नेताओं में आक्रोश है। पिछले दिनों करीब दर्जनभर से अधिक दावेवरों ने नेपानगर के आंबेडकर चौराहे पर जमा होकर विरोध दर्ज कराया था और प्रत्याशी बदलने की मांग की थी। दूसरे ही दिन कुछ कांग्रेस भोपाल भी पहुंच गए थे, लेकिन कांग्रेस ने प्रत्याशी नहीं बदला। जिसके बाद अधिकांश कांग्रेस नेता इस चुनाव से दूरी बनाने में लगे हैं। जिसका सीधा फायदा भाजपा को होगा, क्योंकि भाजपा मैनेजमेंट से चुनाव जीतने में जुट गई है तो वहीं कांग्रेस की आपसी खीचंतान उसे नुकसान में डाल सकती है। इसका ताजा उदाहरण बुधवार को हुए कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन में देखने को मिला। जब कांग्रेस से टिकट की चाह रखने वाले आदिवासी नेता अंतरसिंह बर्डे ने धूलकोट और नेपानगर के कार्यक्रम से दूरी बना ली। वह न तो धूलकोट के कार्यक्रम में पहुंचे और न ही नेपानगर के अणुव्रत भवन में हुए कार्यकर्ता सम्मेलन में। ऐसे में कांग्रेस को इसका खामियाजा भुगतना पड सकता है। दर्जनभर नेताओं ने जताई थी दावेदारी भाजपा ने जहां एक ही बार में अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया तो वही कांग्रेस ने काफी सोच विचार के बाद दो बार चुनाव हार चुके रामकिशन पटेल को प्रत्याशी बनाया। कांग्रेस में नेपानगर विधानसभा सीट से करीब दर्जनभर से अधिक दावेदार थे। कुछ ने तो फील्ड में प्रचार भी शुरू कर दिया था, लेकिन जैसे ही रामकिशन पटेल का नाम फाइनल हुआ विरोध के स्वर गूंजने लगे। इसका नुकसान कहीं न कहीं पार्टी को उठाना पड सकता है, क्योंकि कांग्रेस ने किसी भी नेता को नहीं मनाया, बल्कि रामकिशन पटेल के नाम पर ही सहमति जता दी। जबकि प्रत्याशी चयन के लिए ऑनलाइन सर्वे भी कराया गया था जिसमें सबसे कम वोट रामकिशन पटेल को ही मिले थे। इसके बावजूद वह प्रत्याशी बना दिए गए। यह बात टिकट की चाह रखने वाले उम्मीदवारों को नगवार गुजर रही है और वह पार्टी का काम करने से दूरी बना रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/निलेश जूनागढ़े/राजू-hindusthansamachar.in