अधिकारियों के समझाने पर टीकाकरण को राजी हुए ग्रामीण

अधिकारियों के समझाने पर टीकाकरण को राजी हुए ग्रामीण
villagers-agree-to-vaccination-on-the-persuasion-of-officials

पाकुड़, 08 जून (हि.स.)। मनीरामपुर पंचायत के कई गांवों में यह अफवाह फैला दी गयी थी कि कोरोना का टीका लेने से मौत हो जायेगी। इतना ही नहीं यह भी कि जो कोरोना का टीका लेगा वह बांझपन का शिकार हो जायेगा। इसके चलते ग्रामीणों ने टीकाकरण से सीधा इंकार कर दिया। हालांकि, अधिकारियों के समझाने पर ग्रामीण टीकाकरण को राजी हो गए। मामले की जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन ने अंचलाधिकारी को ग्रामीणों के साथ बैठक कर फैले भ्रम को दूर करने का निर्देश दिया। अंचलाधिकारी आलोक वरण केशरी, अंचल निरीक्षक राजेश साहा, राजस्व कर्मचारी सुरेश सिंह आदि मंगलवार को मनीरामपुर पहुंचे। उन्होंने गांव की बड़ी मस्जिद के निकट ग्रामीणों की बैठक बुलायी। इस मौके पर पूर्व जिला परिषद सदस्य हाजीकुल आलम, मौलाना अताउर रहमान, मनारूल शेख, लुत्फुल शेख, मौलाना सुलेमान आदि ने ग्रामीणों को बताया कि कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन लेना बहुत ही जरूरी है। पदाधिकारियों, मौलाना एवं पूर्व जिला परिषद सदस्य की ग्रामीणों के साथ हुए सार्थक संवाद के बाद ग्रामीणों का भ्रम दूर हुआ। ग्रामीण गांव में ही टीकाकरण केंद्र खोलने की शर्त पर राजी हुए। अंचलाधिकारी आलोक वरण केशरी ने बताया कि प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में वहां बुधवार से टीकाकरण शुरू कर दिया जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/ कुमार रवि