the-scene-of-undeclared-lockdown-is-visible-in-pakur
the-scene-of-undeclared-lockdown-is-visible-in-pakur
झारखंड

पाकुड़ में दिख रहा है अघोषित लाॅक डाउन का नजारा

news

पाकुड़,06अप्रैल(हि.स.)। कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी है। इस दौरान महज एक सप्ताह के अंदर न सिर्फ कोरोना बल्कि दूसरी बिमारियों से भी दर्जन भर से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इसके चलते लोग सतर्क हो गए हैं। शुरूआती दौर में लोगों को कोविड-19 के गाइड लाइन का पालन करवाने के लिए पुलिस व प्रशासन को लाठियां तक चटकानी पड़ीं। लेकिन संक्रमण की रफ्तार को देख लोगों ने खुद ही सावधानी बरतनी शुरू कर दी है। प्रशासनिक स्तर पर कोरोना की जांच व वैक्सिनेशन का काम तेज कर दिया गया है।भले लोग इसे जागरूकता का नाम दें जबकि सच्चाई यह है कि लोगों में भय समा गया है।यही वजह है कि आज 75से 80 फीसदी लोग फेस कवर अथवा मास्क पहनने लगे हैं। अधिकांश लोगों ने बगैर जरूरत घरों से निकलना बंद कर दिया है।नतीजतन मुख्य सड़क तो दूर मुहल्लों की गलियां भी सूनी सूनी दिखने लगी हैं।बिल्कुल अघोषित लाॅक डाउन का सा नजारा।शहर की अधिकांश दुकानें या तो बंद हैं या फिर आंशिक रूप से खुल रही हैं। दुकानदार बगैर मास्क लगाए आने वाले ग्राहकों को सामान नहीं दे रहे हैं। वहीं ऑटो व इ-रिक्शा व बसों में लापरवाही साफ दिखाई दे रही है।भले लोग मास्क लगा कर सवार हो रहे हैं।लेकिन ठूंस ठूंस कर सवारियों को बैठना बंद नहीं हुआ है। हिन्दुस्थान समाचार/ रवि