विद्यार्थी तपस्वी की भांति लक्ष्य को ध्यान में रखकर अध्ययनरत रहे : कामिनी कुमार

विद्यार्थी तपस्वी की भांति लक्ष्य को ध्यान में रखकर अध्ययनरत रहे : कामिनी कुमार
students-were-studying-like-an-ascetic-keeping-the-goal-in-mind-kamini-kumar

रांची, 24 फरवरी (हि.स.)। शिक्षा, ज्ञान, संयम, साहस, उत्साह और जागरूकता से ही व्यक्ति किसी भी आने वाले आपदाओं की चुनौतियों का सामना कर सकता है। विद्यार्थी को एक तपस्वी की भांति अपने लक्ष्य को केंद्रीत कर अध्ययन और अन्वेशन में रत रहना चाहिए। शिक्षा और ज्ञान एकमात्रा ऐसे साध्न हैं जो जीनव के किसी भी लक्ष्य को साध्ने में साध्य बना देता है। उक्त बातें बुधवार को सर्कुलर रोड, लालपुर, रांची स्थित शैक्षणिक मार्गदर्शक संस्थान श्योर सक्सेस सेंटर के तत्वावधन में आयोजित संगोष्ठी सह कैलेन्डर विमोचन कार्यक्रम में फ्कोविड-19 और अवसर की चुनौतियां विषय पर बोलते हुए रांची विश्वविद्यालय की प्रतिकुलपति प्रो कामिनी कुमार ने बतौर मुख्य वक्ता के रूप में कही। उन्होंने कहा कि प्रतिस्पर्ध के इस युग में युवाओं को हर समय, हर परिस्थितियों का सामना करने को हमेशा तत्पर रहना चाहिए। मौके पर अतिथि के रूप में उपस्थित रांची की महापौर आशा लकड़ा ने कहा कि भारत युवाओं का देश है, यहां की 65 प्रतिशत आबादी युवाओं की है और युवाओं के आदर्श स्वामी विवेकानन्द हैं। अतः युवाओं को चाहिए कि स्वामी विवेकानन्द द्वारा बताया गया फ्उठो, जागो और बिना रूके लक्ष्य को प्राप्त करोय् को आत्मसात कर संकल्प लें। सेवा और कार्य के प्रति दृढ़-निश्चयी व्यक्ति किसी भी लक्ष्य को प्राप्त कर सकता है। उन्होंने नगर निगम कर्मिर्यों का उदाहरण देते हुए कहा कि कोरोना के लॉकडाउन कालखण्ड में इन कर्मियों ने जो सेवा की उसकी जितनी भी सराहना की जाए वो कम है। लेकिन किसी को कोरोना छू भी नहीं पाया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए श्योर सक्सेस सेंटर के निदेशक सुनील जायसवाल ने कहा कि गत ग्यारह महीने के लॉकडाउन आपदा में श्योर सक्सेस सेंटर परिवार द्वारा रांची में कई जरूरतमंदों, दीन-दुखियों को यथासंभव निःस्वार्थ भाव एवं तन-मन-ध्न से सेवा पहुँचाने का काम किया गया। जायसवाल ने बताया कि पूरे लॉकडाउन में संस्थान द्वारा विद्यार्थियों को ऑनलाईन के माध्यम से तैयारी कराई गई, लेकिन अब सरकार द्वारा आगामी 1 मार्च, 2021 से लॉकडाउन हटाने की घोषणा के साथ ही संस्थान में नियमित रूप से कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। हिन्दुस्थान समाचार/वंदना