एस जे एम ने किया विश्व जागृति दिवस का आयोजन

एस जे एम ने किया विश्व जागृति दिवस का आयोजन
sjm-organized-world-awakening-day

पाकुड़, 20 जून (हि.स.)। स्वदेशी जागरण मंच ने पेटेंट मुक्त व सबको मुफ्त वैक्सिन एवं दवाई की मांग को लेकर रविवार को विश्व जागृति दिवस का आयोजन किया।सूबे में लागू पूर्ण लाॅक डाउन के मद्देनजर जिला संयोजक प्रदीप जायसवाल के नेतृत्व में प्रतीकात्मक रूप से आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से मंच के झारखंड प्रांत अभियान प्रमुख दिगेश त्रिवेदी समेत प्रमुख कार्यकर्ता मौजूद थे। विगत दो महीने से विभिन्न कार्यक्रमों के जरिए देश भर में जारी यूनिवर्सल एक्सेस टु वैक्सिन्स एंड मेडिसिन्स कैंपैन(युवम)यानी वैश्विक सर्व सुलभ टीकाकरण एवं दवाइयाँ अभियान के तहत आयोजित कार्यक्रम में श्री त्रिवेदी ने कहा कि विश्व के लगभग 700 करोड़ से ज्यादा गरीब लोगों को पेटेंट मुक्त व मुफ्त वैक्सिन एवं दवाई उपलब्ध कराने के लिए हमारा अभियान जारी है। उन्होंने कहा कि अपना समर्थन देने के बावजूद ढुलमुल अमेरिकी नीति तथा चंद वैश्विक फार्मा कंपनियों के दबाव में अभी तक विश्व व्यापार संगठन इस मुद्दे पर चुप्पी साधे बैठा है। जबकि भारत तथा दक्षिण अफ्रीका संयुक्त रूप से विगत अक्टूबर महीने में ही विश्व व्यापार संगठन के प्रावधानों के तहत ट्रिप्स समझौते के आधार पर छूट देने का प्रस्ताव रख चुके हैं।जिसका विश्व के 120 देशों सहित विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी खुलकर समर्थन किया है। स्वदेशी जागरण मंच का संघर्ष लक्ष्य प्राप्ति तक जारी रहेगा।क्योंकि विश्व व्यापार संगठन के बौद्धिक संपदा समझौते के प्रावधानों में स्पष्ट उल्लेख है कि वैश्विक महामारी से संबंधित सभी प्रकार की वैक्सिन्स एवं दवाइयों को पेटेंट मुक्त रखा जाएगा। साथ ही इससे संबंधित सभी प्रकार की प्रौद्योगिकी एवं उत्पादन सामग्रियाँ विश्व के अन्य देशों तथा दवा कंपनियों को उपलब्ध कराया जाएगा,ताकि वैश्विक महामारी से बचाव के लिए आवश्यक वैक्सिन्स एवं दवाइयों का अधिकाधिक पेटेंट मुक्त उत्पादन हो सके।ताकि पीड़ित मानवता को ससमय मुफ्त उपलब्ध कराया जा सके। स्वदेशी जागरण मंच इस मौके पर मांग करता है कि विश्व व्यापार संगठन बौद्धिक संपदा अधिकार समझौते के प्रावधानों के तहत अविलंब पेटेंट रहित उत्पादन की छूट दे, विश्व के सभी देशों की सरकारें चंद पेटेंट धारक फार्मा कंपनियों के अलावा अन्य सभी दवा व वैक्सिन निर्माता कंपनियों को भी उत्पादन का अधिकार, आवश्यक प्रौद्योगिकी तथा आवश्यक उत्पादन सामग्रियाँ उपलब्ध कराए और प्रोत्साहन दे। हिंदुस्थान समाचार/ रवि

अन्य खबरें

No stories found.