कोरोना महामारी को नियंत्रित करने में सफाईकर्मी भी अहम भूमिका निभा रहे : मेयर

कोरोना महामारी को नियंत्रित करने में सफाईकर्मी भी अहम भूमिका निभा रहे : मेयर
scavengers-are-also-playing-an-important-role-in-controlling-the-corona-epidemic-mayor

13/05/2021 रांची, 13 मई (हि. स.)। रांची नगर निगम की मेयर आशा लकड़ा ने कहा कि चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों की तर्ज पर कोरोना महामारी को नियंत्रित करने में राज्य के पुलिसकर्मी व दैनिक मानदेय पर कार्य कर रहे सफाईकर्मी भी अहम भूमिका निभा रहे हैं। कोरोना योद्धा के रूप में इन्हें भी सम्मानित करने व उनका मनोबल ऊंचा करने की आवश्यकता है। मेयर आशा लकड़ा ने गुरुवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन व स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता से आग्रह किया है कि राज्य के पुलिसकर्मियों व दैनिक मानदेय पर कार्य कर रहे सफाईकर्मियों को भी प्रोत्साहन राशि देने की घोषणा की जाए। साथ ही पुलिसकर्मियों व सफाईकर्मियों के हित को ध्यान में रखते हुए सभी का 50 लाख रुपये का बीमा किया जाए, ताकि कोरोना संक्रमण से उनकी मृत्यु हो जाए तो उनके आश्रितों को राहत मिल सके। कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रसार को नियंत्रित करने की दिशा में पुलिसकर्मी व सफाईकर्मी भी प्रतिदिन अपनी जान जोखिम में डालकर कार्य कर रहे है। कोरोना वायरस के संक्रमण से आम लोगों की जीवन रक्षा के लिए ये लोग भी स्वास्थ्य कर्मियों की तरह काम कर रहे हैं। इसलिए इन्हें भी स्वास्थ्य कर्मियों की तरह प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है। मेयर ने कहा कि राज्य के 40 हजार सहिया को विशेष प्रोत्साहन राशि देने की घोषणा की गई है। अन्य कार्यक्रमों में मिलने वाली प्रोत्साहन राशि के अलावा सहिया को एक हज़ार रुपये की अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि देने की घोषणा की गई है। केंद सरकार की स्वीकृति मिलने के बाद इस संबंध में सभी उपायुक्तों व सिविल सर्जन को निर्देश जारी कर दिया गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना नियंत्रण के विभिन्न कार्यों में लगाई गई सहिया को अप्रैल-सितंबर माह तक एक हजार रुपये इंसेंटिव देने को कहा है। इसी तरह फैसिलेटर को भी 500 रुपये अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि मिलेगी। हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में तैनात कम्युनिटी ऑफिसरों को भी परफॉरमेंस बेस्ड इंसेंटिव देने का निर्देश दिया गया है। राज्य सरकार ने स्वास्थ्य कर्मियों को एक माह का अतिरिक्त वेतन देने का निर्णय लिया है। अनुबंध कर्मियों को भी इसका लाभ मिलेगा। इसलिए राज्य सरकार से आग्रह है कि झारखंड में कोरोना संक्रमण को नियंत्रित कर रहे पुलिसकर्मियों व सफाईकर्मियों के साथ भेदभाव न किया जाए। उनके मनोबल को ऊंचा रखने के लिए उन्हें भी प्रोत्साहित किया जाए। साथ ही 50 लाख रुपये की बीमा कर उनके परिवार व स्वजनों का भविष्य सुरक्षित किया जाए। हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण/चंद्र

अन्य खबरें

No stories found.