सरयू राय ने एसीबी के डीजी से मेनहर्ट मामले में जांच का आग्रह किया

सरयू राय ने एसीबी के डीजी से  मेनहर्ट मामले में जांच का आग्रह किया
सरयू राय ने एसीबी के डीजी से मेनहर्ट मामले में जांच का आग्रह किया

रांची, 31 जुलाई (हि.स.) झारखंड के पूर्व मंत्री और जमशेदपुर पूर्वी के निर्दलीय विधायक सरयू राय ने शुक्रवार को रांची में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) के डीजी से मुलाकात की और मेनहर्ट मामले में परिवाद पत्र सौंप कर जांच का आग्रह किया। पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास को विधानसभा चुनाव 2019 में पराजित करने वाले निर्दलीय विधायक सरयू राय अपने अधिवक्ता दिवाकर उपाध्याय के साथ शुक्रवार को आरक्षी महानिदेशक,एसीबी कार्यालय पहुंचे। उन्होंने एसीबी के आरक्षी महानिदेशक नीरज सिन्हा को रांची शहर के सिवरेज-ड्रेनेज निर्माण का डीपीआर तैयार करने के लिए मेनहर्ट परामर्शी की नयिक्ति में हुई अनियमितता, भ्रष्टाचार एवं षडयंत्र के विरूद्ध सात पृष्ठों का परिवाद पत्र सौंपा। विधायक ने 17 बिंदुओं पर अपनी सरयू राय लिखित रूप से एसीबी को उपलब्ध करायी है। राय ने एसीबी के डीजी को सौंपे गये पत्र में बताया कि रांची शहर के सिवरेज-ड्रेनेज निर्माण का डीपीआर तैयार करने के लिए मेनहर्ट परामर्शी की नियुक्ति में हुई अनियमितता, भ्रष्टाचार एवं षडयंत्र मामले की सघन जांच जरूरी है। सरयू राय ने कहा कि इस बीच एक और बात सामने आ रही है कि मेनहर्ट के नाम से जो निविदा रांची के सिवरेज-ड्रेनेज का डी.पी.आर. तैयार करने के लिए निविदा डाली गयी, वह असली मेनहर्ट सिंगापुर नहीं है, बल्कि इसके लिए भारत में इस नाम की संस्था बनाकर निविदा डाली गयी। इसकी जाँच होनी चाहिए। यदि यह सही है तो अत्यंत गंभीर बात है। राय ने बताया कि परिवाद पत्र पर कानून की प्रासंगिक धाराओं के तहत मामला दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई का आग्रह किया गया है तथा इस कांड की गहन जाँच करने की प्रक्रिया शुरू करने की मांग की गयी है, ताकि षडयंत्रकारियों को बेनकाब किया जा सके तथा अपने निहित स्वार्थी आचरण से राज्यहित और जनहित पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वालों को दंडित किया जा सके। हिंदुस्थान समाचार /विनय/सबा एकबाल-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.