दिल्ली दौरे से रांची लौटे रामेश्वर उरांव

दिल्ली दौरे से रांची लौटे रामेश्वर उरांव
rameshwar-oraon-returned-to-ranchi-from-delhi-tour

रांची, 20 जून (हि. स.)। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सह राज्य के वित्त तथा खाद्य आपूर्ति रामेश्वर उरांव दिल्ली दौरे से रविवार को वापस रांची लौट आये। रांची एयरपोर्ट पर प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोरनाथ शाहदेव और राजेश गुप्ता सहित अन्य पार्टी नेताओं ने उनका स्वागत किया। एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बातचीत में रामेश्वर उरांव ने कहा कि मंत्रिमंडल का गठन और विभागों का बंटवारा मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है। मंत्रिमंडल विस्तार और फेरबदल की खबरों को लेकर पिछले चार-पांच दिनों में जितना पतंग उड़ाया गया, उसका वास्तविकता एवं सच्चाई से कोई लेना-देना नहीं था। उन्होंने बताया कि वे निजी कार्यों से दिल्ली गये थे और यह इक्तेफाक था कि इसी दौरान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी व्यक्तिगत कारणों से दिल्ली पहुंचे एवं काम खत्म होने के बाद वापस लौट आये। एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल गठन का मसला मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है और इस संबंध में वे ही निर्णय लेंगे। लेकिन जहां तक पार्टी के दृष्टिकोण की बात है, तो वे यह कह सकते हैं कि 12वां मंत्री कांग्रेस को दिया जाना चाहिए लेकिन इसका फैसला मुख्यमंत्री को ही करना है। बोर्ड-निगम के बंटवारे के संबंध में पूछे गये प्रश्न के जवाब में रामेश्वर उरांव ने कहा कि जब-जब इस दिशा में कदम उठाये जाते है, तो कोरोना संक्रमण के फैलाव के कारण इसे टाल दिया जाता है। स्थिति सामान्य होने पर इसकी प्रक्रिया भी पूरी कर ली जाएगी। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में सरकार की ओर से अच्छे काम किये गये। वे पहले व्यक्ति थे, जिन्हांने जीवन के साथ जीविका को भी बचाने का पक्ष रखा था। अब धीरे-धीरे स्थिति सामान्य हो रही है, जल्द ही सारी चीजें खुलेगी। दिल्ली में पार्टी नेताओं से मुलाकात के संबंध में रामेश्वर उरांव ने कहा कि वे जब भी दिल्ली जाते है, तो पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करते है। दिल्ली दौरे के क्रम में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात हुई। उन्होंने बताया कि केसी वेणुगोपाल को कोरोना काल में टॉस्क फोर्स द्वारा किये गये सेवा कार्यों के बारे में जानकारी दी गयी। इसके अलावा आउटरीच अभियान की सफलता पर चर्चा हुई। उन्होंने बताया कि आउटरीच अभियान की सफलता को लेकर वे दिल्ली से लौटने के बाद जिलों में भ्रमण करेंगे और वरिष्ठ नेताओं तथा पदाधिकारियों के साथ बैठक कर इसे सफल बनाने पर चर्चा करेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण

अन्य खबरें

No stories found.