अनर्गल बयानबाजी कर सरकार को कटघरे में खड़ा करने का प्रयास निंदनीय : राजेश ठाकुर
अनर्गल बयानबाजी कर सरकार को कटघरे में खड़ा करने का प्रयास निंदनीय : राजेश ठाकुर
झारखंड

अनर्गल बयानबाजी कर सरकार को कटघरे में खड़ा करने का प्रयास निंदनीय : राजेश ठाकुर

news

रांची, 24 जुलाई (हि. स.)। झारखंड प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने भाजपा के प्रदेशअध्यक्ष दीपक प्रकाश और बाबूलाल मरांडी के बयान पर पलटवार किया है। ठाकुर ने शुक्रवार को कहा कि सरकार बनाने और सरकार गिराने की जल्दबाजी में बिना किसी अध्ययन के अनर्गल बयानबाजी कर सरकार को कटघरे में खड़ा करने का प्रयास निंदनीय है। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं के बयान से ऐसा प्रतीत होता है मानो भाजपा नेताओं का सत्ता पाने की जल्दबाजी में बुद्धि भ्रष्ट हो गया हो। ठाकुर ने कहा कि हमारा उद्देश्य लोगों को कोरोना से बचाने के साथ साथ इस क्षेत्र में कार्यरत सभी कोरोना योद्धाओं को सुरक्षा प्रदान करने का भी है। झारखंड की लोकप्रिय सरकार ने कोरोना विपदा के मद्देनजर कोरोना जैसी संक्रामक बीमारी पर काबू पाने के लिए सजा एवं जुर्माना लगाने के लिए अध्यादेश कैबिनेट से पारित किया है। राज्यपाल के अनुमति के बाद यह स्पष्ट होगा कि किस अपराध के लिए कितना जुर्माना लिया जाएगा। दुर्भाग्यवश भाजपा नेता यह भ्रम फैलाने में लगे हैं कि मास्क नहीं लगाने पर एक लाख का जुर्माना लगाया जाएगा, जो सरासर गलत है। उन्होंने कहा कि अध्यादेश में दो साल की सजा एवं अधिकतम एक लाख रूपये जुर्माना का प्रावधान किया गया है। अध्यादेश पारित होने के बाद यह स्पष्ट हो जाएगा कि मास्क नहीं पहनने पर कितना, होटल में अनुमति के बिना पार्टी करने पर कितना, जान बूझकर संक्रमण फैलाने पर कितना, व्यवसायिक प्रतिष्ठानों पर नियमों के उल्लंघन पर कितना एवं इस प्रकार के अन्य अपराध पर कितना जुर्माना होगा। ठाकुर ने कहा कि कोरोना जैसी संक्रामक बीमारी को ध्यान में रखकर राजस्थान, उड़ीसा, केरल, बिहार, उत्तर प्रदेश जैसे कई राज्यों ने इस तरह का अध्यादेश लाया है। जिसमें उत्तर प्रदेश ने सबसे अधिक दस वर्ष तक की क़ैद एवं पाँच लाख रुपए तक के जुर्माने का प्रावधान किया है। भाजपा नेताओं को कोई भी बयान देने से पूर्व भाजपा शासित राज्यों में बनाए गए क़ानून का अध्ययन कर लेना चाहिए और तभी किसी क़ानून या अध्यादेश का विरोध करना चाहिए। वरना जनता में यह संदेश जाएगा कि भाजपा के लोग गठबंधन की सरकार को बदनाम करने के लिए इस प्रकार का बचकाना बयान देते रहते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेताओं में इतना दम है तो उत्तर प्रदेश जाकर विरोध करें, वहाँ की हालत बहुत ख़राब है। हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण/ विनय-hindusthansamachar.in