Post mortem of the head of a severed woman
Post mortem of the head of a severed woman
झारखंड

सिर कटी युवती के शव का दोबारा कराया गया पोस्टमार्टम

news

रांची, 09 जनवरी (हि.स.)। रांची के ओरमांझी थाना क्षेत्र में सिर कटी युवती के शव का दोबारा पोस्टमार्टम किया गया है। 6 दिन पूर्व हुए पोस्टमार्टम में कुछ खास जानकारी पुलिस को नहीं मिल सकी थी। इसके बाद उसके शव को रिम्स के शवगृह में रख दिया गया था। शुक्रवार देर रात डॉक्टर की बोर्ड टीम ने दोबारा पोस्टमार्टम किया, जिसके बाद युवती का बिसरा सुरक्षित जांच के लिए रखा गया है। उपायुक्त छवि रंजन के आदेश पर देर रात रिम्स में पोस्टमार्टम हुआ है। डॉक्टर्स की टीम अब अपना राय देगी कि युवती की हत्या कब हुई है? किस परिस्थिति में हुई है? युवती के साथ रेप हुआ या फिर गैंग रेप हुआ है। इसके अलावा भी कई जानकारी पुलिस को अब बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम के बाद मिल पायेगा। विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ तुलसी महतो की निगरानी और कार्यपालक दंडाधिकारी पवन कुमार और चिली डीएसपी चंद्रशेखर आजाद के समक्ष डॉक्टरों की टीम ने पोस्टमार्टम किया । तीसरी बार बढ़ाई गई नाम की राशि युवती की शव की शिनाख्त करने वाले को रांची पुलिस अब 5 लाख का इनाम देगी। 15 साल में यह पहली बार होगा जब रांची पुलिस ने क्या मामले को सुलझाने के लिए 5 दिन में तीसरी बार ईनाम की राशि बढ़ा दी है पहले 25 हजार इनाम राशि थी। फिर 50 हजार कर दी गई थी। अब ईनाम की राशि पांच लाख रुपये कर दिया गया है। क्या है मामला ओरमांझी थाना क्षेत्र के जीराबार जंगल से बीते 3 जनवरी को नग्न अवस्था मे सिर कटा युवती का शव बरामद हुआ था। युवती की उम्र 18 से 22 वर्ष के आसपास बताई जा रही है। युवती की लंबाई पांच फीट के करीब, रंग गेहुआं शरीर की बनावट दुबला पतला और दाहिने हाथ और दाहिने पैर में काले रंग का धागा बांधा हुआ था। शारीरिक पहचान के रूप में मृतिका के दाहिने पैर के तलवे पर काला रंग का तिल और दाहिने हाथ पर भी तिल पाया गया है। युवती का सिर धड़ से गायब है। इस वजह से पुलिस शव की शिनाख्त नहीं कर पाई है। रांची पुलिस जिले के सभी थानों से संपर्क कर यह जानकारी जुटाने का प्रयास कर रही है कि कहीं किसी युवती की गुमशुदगी का मामला दर्ज है या नहीं। पुलिस को घटनास्थल से कोई सुराग हाथ नहीं लगा है, जिसके आधार पर पुलिस हत्यारों तक पहुंच सके। ऐसा लगता है कि युवती की हत्या कहीं और कर उसका शव ओरमांझी लाकर फेंका गया है। हत्यारों का सुराग ढूंढने के लिए पुलिस ने खोजी कुत्तों मदद ली। लेकिन इसमें उन्हें कोई सफलता हाथ नहीं लगी। शुक्रवार को डीजीपी के निर्देश पर घटनास्थल से 15 किलोमीटर के क्षेत्र में एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा के नेतृत्व में सर्च अभियान चलाया गया था। लेकिन इस दौरान भी पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला। इसके बाद देर रात 12:00 बजे दोबारा पोस्टमार्टम कराया गया। दोबारा पोस्टमार्टम के बावत पूछने पर किसी भी अधिकारी ने कोई जवाब नहीं दिया। कोतवाली और सुखदेव नगर थाना प्रभारी पर होगी विभागीय कार्रवाई मुख्यमंत्री के काफिले पर हमला की कोशिश मामले में कोतवाली थाना प्रभारी बृज कुमार और सुखदेव नगर थाना प्रभारी सुनील कुमार तिवारी पर विभागीय कार्रवाई करने का निर्देश एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने दिया है। दोनों को पुलिस लाइन वापस भेज दिया गया हैं। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के कारकेड पर हमले के मामले में ट्रैफिक एसपी ने जांच प्रतिवेदन में कोतवाली थाना प्रभारी बृज कुमार और सुखदेव नगर थाना प्रभारी सुनील कुमार तिवारी पर कर्तव्य में लापरवाही बरतने का उल्लेख किया है। हिन्दुस्थान समाचार/ विकास-hindusthansamachar.in