हेमंत सोरेन के ट़वीट से मचा सियासी बवाल, भाजपा नेताओं ने किया पलटवार

हेमंत सोरेन के ट़वीट से मचा सियासी बवाल,  भाजपा नेताओं ने किया पलटवार
political-turmoil-caused-by-hemant-soren39s-tweet-bjp-leaders-retaliated

07/05/2021 रांची, 07 मई (हि.स.)। एक ओर जहां कोरोना कहर बरपा रहा है वहीं, दूसरी ओर राजनीतिक घमासान भी थम नहीं रहा है। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने छह मई को कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों को फोन किया और कोरोना संकट को लेकर चर्चा की। इस पर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इस चर्चा को लेकर एक ट्वीट कर दिया, जिस पर अब बवाल मच गया है। हेमंत सोरेन ने ट्वीट किया था कि 'आज आदरणीय प्रधानमंत्री ने फोन किया। उन्होंने सिर्फ अपने मन की बात की। बेहतर होता यदि वो काम की बात करते और काम की बात सुनते'। सोरेन के इस ट्वीट पर अब भाजपा के नेता और समर्थक उनके खिलाफ बयानों के तीर बरसा रहे हैं। भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के इस ट्वीट के जवाब में ट्वीटर पर लिखा है कि 'अपने पूरे जीवन काल में मैंने इतना घटिया मानसिकता का मुख्यमंत्री नहीं देखा, जिसको प्रधानमंत्री जी पर भी इतनी हल्की बात बोलने पर शर्म नहीं आती। प्रधानमंत्री जी ने लोगों का हाल पूछा। आप हाल पूछने के लिए प्रधानमंत्री जी पर नीच कमेंट करते हो। अपनी नहीं पद की मर्यादा का सम्मान सीखिए'। भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने ट्वीटर पर हेमंत सोरेन को नसीहत दी 'वैश्विक महामारी के बीच मुख्यमंत्री जी अपने दायित्वों से बचने के लिए झारखंड की जनता को लगातार गुमराह कर रहे हैं। प्रधानमंत्री के झारखंड के प्रति अपनी प्रतिबद्धता और प्रयासों को झुठलाने के आपके इस ओछे हरकत पर आज झारखंडी शर्मिंदा हैं। आपके इस बचकाना एवं गैर जिम्मेदाराना, निरंकुश ट्वीट की देश ही नहीं दुनिया में थू-थू हो रही है। झारखंड की संस्कृति में झूठ, फरेब की कोई जगह नहीं है। ईश्वर आपको सद्बुद्धि दें, संयमित रखें और ज़िम्मेदार बनाएं,'। भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने हेमंत सोरेन पर हमला बोलते हुए एक समाचार पत्र की कटिंग डाली, जिसमें रांची के सदर अस्पताल में ऑक्सीजन आपूर्ति बाधित होने से पांच मरीजों की मौत की खबर है। मालवीय ने लिखा है कि 'जो आपको मन की बात लगी वो काम की बात ही थी। आपकी जगह कोई और भी मुख्यमंत्री होता तो भी प्रधानमंत्री जी फ़ोन करते क्योंकि झारखंड की जनता का सुख और सलामती सर्वोपरि है।इनके प्रदेश में लोग अव्यवस्था से मर रहे हैं और इन्हें कलाबाज़ी सूझ रही है। अपने दायित्व का एहसास ही नहीं'। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने ट्वीट कर कहा कि 'देश ने शायद ही कभी ऐसा स्तरविहीन मुख्यमंत्री देखा होगा। प्रधानमंत्री ने बड़ा हृदय दिखाते हुए मुख्यमंत्री को फ़ोन किया लेकिन मुख्यमंत्री के इस बयान की निंदा आज झारखण्ड का प्रत्येक नागरिक कर रहा है'। हिन्दुस्थान समाचार /वंदना/चंद्र