झारखंड में भूख से एक भी मौत नहीं हुई : कांग्रेस

झारखंड में भूख से एक भी मौत नहीं हुई : कांग्रेस
not-a-single-death-due-to-hunger-in-jharkhand-congress

रांची, 01 अप्रैल (हि.स.)। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता राकेश सिन्हा ने कहा कि बाबूलाल मरांडी को याद होगा कि कैसे भाजपा के शासन में भूख से गरीब संतोषी नामक एक बच्ची भात भात करते मौत की आगोश में समा गई। लेकिन महागठबंधन की सरकार बनने के बाद कोरोना जैसी त्रासदी के दौर में भी झारखंड में भूख से एक भी मौत नहीं हुई। सिन्हा ने गुरूवार को बाबूलाल मरांडी के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि जहां एक ओर केंद्र में बैठी भाजपा की सरकार प्रवासी मजदूरों को सड़कों पर मार रही थी। वहीं गठबंधन सरकार झारखंड में मजदूरों को रोजगार मुहैया कराने में सफल रही। महागठबंधन की सरकार में कोरोना त्रासदी में भी एक भी मजदूरों को दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ा। सिन्हा ने कहा कि भाजपा शासन में कैसे अपराधी बेलगाम थे यह एक बाबूलाल को याद नहीं। मुख्यमंत्री निवास के समीप ही पुलिसकर्मियों से राइफल की लूट हो रही थी और युवकों की हत्या हो जा रही थी। इस राज्य में जेल ब्रेक की घटना भी पूर्ववर्ती भाजपा सरकार की उपलब्धियां में शामिल है। पूर्ववर्ती सरकार कैसे विकास के पैसे से हाथी उड़ाकर और पोस्टर चमका कर राज्य की गरीब जनता को भूख से मौतें दी, यह किसी से छिपी नहीं है। बाबूलाल अपनी भाजपा सरकार की नाकामियों का ठीकरा महागठबंधन सरकार में डालकर सिर्फ राजनीति ना करें, बल्कि राज्य के विकास में और महागठबंधन सरकार द्वारा सकारात्मक कार्यों की तारीफ करें, ताकि एक स्वस्थ विपक्ष की भूमिका राज्य में निर्वहन हो सके। हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण

अन्य खबरें

No stories found.