भाकपा माओवादी के तीन नक्सलियों को एनआईए ने लिया रिमांड पर

 भाकपा माओवादी के तीन नक्सलियों को एनआईए ने लिया रिमांड पर
nia-took-three-naxalites-of-cpi-maoist-on-remand

04/05/2021 रांची, 04 मई (हि.स.)। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने भाकपा माओवादी के रामराई हांसदा सहित तीन नक्सलियों को एनआईए ने तीन दिनों के रिमांड पर लिया है। सूत्रों ने बताया कि एनआईए ब्रांच रांची ने रामराई हांसदा, अशोक कुमार और नेल्सन कंडीर को रिमांड पर लिया है।रिमांड अवधि के दौरान एनआईए हमले से संबंधित कई बिंदुओं पर पूछताछ करेगी। बीते चार मार्च को हुए लांजी नक्सली हमले में डायरेक्शनल लैंडमाइन प्लांट करने के मामले में तीनों को रिमांड पर लिया गया है। उल्लेखनीय है कि चाईबासा जिले के टोकलो थाना क्षेत्र के लांजी गांव स्थित पहाड़ी के क्षेत्र में बीते चार मार्च को डायरेक्शनल लैंडमाइन विस्फोट में झारखंड जगुआर के तीन जवान शहीद हो गए थे। इस मामले में टोकलो थाना में दर्ज मामले को एनआईए ब्रांच रांची ने टेकओवर करते हुए कांड संख्या आरसी 02/2021 दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। लांजी गांव में नक्सली हमले के हफ्तेभर बाद यानी 14 मार्च को चाईबासा पुलिस ने डायरेक्शनल लैंडमाइन विस्फोट मामले में भाकपा माओवादी के केंद्रीय कमेटी के सदस्य पतिराम मांझी उर्फ अनल दा जोनल कमेटी सदस्य महाराज प्रमाणिक उर्फ राज प्रमाणिक दस्ते की बी टीम के दस सदस्यों को गिफ्तार कर लिया था। गिरफ्तार आरोपियों में रामराई हांसदा, नेल्सन कंडीर, विल्सन सामड़, सीताराम राम सामड़, रोशन बोदरा उर्फ चोंडे बोदरा, सोरटो माहली, सोमनाथ भूमिज, अशोक कुमार महतो, मंगल मुंडा व महादेव मुंडा शामिल थे।पुलिस की पूछताछ में रामराई हांसदा ने बताया कि नक्सली कमांडर अनल दा उर्फ पतिराम मांझी और महाराजा प्रमाणिक के कहने पर उसने अपने सहयोगियों के साथ पुलिस पर हमले के लिए डायरेक्शनल लैंडमाइन सड़क में प्लांट किया था। दूसरे दिन सुबह में चार नक्सली छिपकर पुलिस के गुजरने का इंतजार कर रहे थे। जैसे ही नक्सलियों ने पुलिस को सड़क से गुजरते हुए देखा, रिमोट से लैंडमाइंस विस्फोट कर दिया। इस विस्फोट में तीन जवानों की मौत हो गई थी। मामले में पुलिस ने एक करोड़ के इनामी नक्सली अनल दा उर्फ पतिराम मांझी सहित 33 नक्सलियों पर मामला दर्ज किया है। मामले में एनआईए ने 25 से 30 अज्ञात लोगों वह भी आरोपित बनाया है। नक्सलियों के हमले में 3 जवान शहीद हो गए थे। शहीद जवानों में झारखंड जगुआर के कांस्टेबल हरिद्वार साह, झारखंड जगुआर के कांस्टेबल किरण सुरीन और हेड कांस्टेबल देवेंद्र कुमार पंडित शामिल थे। हिन्दुस्थान समाचार/ विकास