टीएसी नियमावली संशोधन में झामुमो कर रहा दिग्भ्रमित : गंगोत्री कुजूर

टीएसी नियमावली संशोधन में झामुमो कर रहा दिग्भ्रमित : गंगोत्री कुजूर
jmm-is-misleading-in-tac-manual-amendment-gangotri-kujur

रांची, 08 जून (हि.स.)। भाजपा की प्रदेश उपाध्यक्ष गंगोत्री कुजूर ने झामुमो महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य के बयान को दिग्भ्रमित करने वाला बताया है, जिसमें उन्होंने जनजातीय सलाहकार परिषद (टीएसी) नियमावली संशोधन में राज्यपाल की सहमति बताई है। कुजूर ने मंगलवार को कहा कि टीएसी की नियुक्ति के लिये संविधान की पांचवीं अनुसूची में राज्यपाल को विशेषाधिकार प्राप्त है। इसलिये संवैधानिक नियुक्तियों को सामान्य नियुक्तियों से जोड़ना झामुमो की अज्ञानता है। उन्होंने कहा कि विभिन्न आयोग के अध्यक्षों की नियुक्ति, प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति, आयोग के सदस्यों की नियुक्ति आदि पद संवैधानिक पद है, जिसे राज्यपाल के हस्ताक्षर के बाद ही अधिसूचना जारी की जाती है। कुजूर ने कहा कि टीएसी कानून में संशोधन कर मुख्यमंत्री ने आदिवासी हित और समाज की सुरक्षा पर कुठाराघात किया है। सरकार के गलत निर्णय के कारण ही राष्ट्रीय जनजाति आयोग ने राज्य सरकार को समन किया है। हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण