कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर झारखंड हाईकोर्ट सख्त,  सरकार को चेताया
कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर झारखंड हाईकोर्ट सख्त, सरकार को चेताया
झारखंड

कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर झारखंड हाईकोर्ट सख्त, सरकार को चेताया

news

रांची 24 जुलाई (हि.स.)। झारखंड हाईकोर्ट ने राज्य में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों और जांच की सुस्त रफ्तार पर कड़ी टिप्पणी करते हुए राज्य सरकार को कड़ी हिदायत दी है। चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर काफी गंभीर है। झारखंड हाईकोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चल रही एक मामले की सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस ने राज्य के महाधिवक्ता राजीव रंजन से यह जानना चाहा कि आखिर कोविड-19 के टेस्ट में इतनी देरी क्यों हो रही है ? हाईकोर्ट ने कोरोना की जांच सुस्त होने पर कहा कि जब हाईकोर्ट के कर्मियों की जांच रिपोर्ट में इतना समय लग रहा है तो राज्य की जनता का क्या हाल हो रहा होगा। अदालत ने इस मामले पर कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि यहां पर भी बिहार जैसे हालात ना हो जाए इसलिए सरकार को कोरोना पर जल्द काबू पाना होगा। हाईकोर्ट ने नए भवन में कोर्ट के सभी कर्मी और जज गेस्ट हाउस को जज के लिए आइसोलेशन सेंटर बनाने का सुझाव दिया है। कोर्ट ने कहा कि इसके लिए सरकार प्रस्ताव भेजे। कोर्ट ने यह भी कहा कि स्वास्थ्य सचिव के साथ हुई बैठक में सुधार का दावा किया जाता है, लेकिन सुधार नहीं दिख रहा है। कोर्ट ने सुनवाई के दौरान झारखंड में बढ़ते कोरोना मामले पर चिंता जतायी हैं। कोर्ट ने धुर्वा स्थित जुडिशल एकेडमी के खाली भवन के इस्तेमाल का भी सुझाव दिया है। हिन्दुस्थान समाचार/ विकास/ विनय-hindusthansamachar.in