पीएचईडी कार्यालय के समक्ष पूर्व प्रधानों का अनिश्चितकालीन धरना शुरू

पीएचईडी कार्यालय के समक्ष पूर्व प्रधानों का अनिश्चितकालीन धरना शुरू
indefinite-dharna-of-former-heads-started-in-front-of-phed-office

-छावनी परिषद के पेयजलापूर्ति फेज दो योजना को पांच वर्षों में भी पूरा नहीं कर सकी पीएचईडी रामगढ़, 21 जून (हि.स.)। छावनी परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष अनमोल सिंह के नेतृत्व में पूर्व प्रधानों का अनिश्चितकालीन धरना पीएचईडी कार्यालय के समक्ष शुरू हो गया है। सोमवार को जब धरना शुरू हुआ तो पीएचईडी के सहायक अभियंता के नेतृत्व में एक टीम ने वार्ता करने की भी कोशिश की लेकिन उनकी वार्ता विफल हो गई। पूर्व उपाध्यक्ष अनमोल सिंह ने कहा कि जून 2016 में पेयजल आपूर्ति योजना फेज 2 का शिलान्यास किया गया था। छावनी परिषद क्षेत्र में लोगों को पेयजल आपूर्ति के लिए इस महत्वाकांक्षी योजना में साढ़े 18 करोड़ का आवंटन हुआ था। इस योजना को 2 वर्ष में ही पूरा करना था। पीएचईडी विभाग को जब यह योजना सौंपी गई तब विभाग की ओर से पूरा सहयोग भी मिला। जब जब पैसों की मांग हुई छावनी परिषद की ओर से रुपये का आवंटन भी हुआ। उन्होंने कहा कि दो वर्षों में पूरी होने वाली इस योजना में अभी भी बहुत सारा काम बाकी है। पांच वर्षों के बीच में छावनी परिषद की ओर से 16 करोड़ रुपये विभाग को दे दिए गए लेकिन अभी भी यह महत्वाकांक्षी योजना सिर्फ हाथी का दांत ही साबित हो रही है। अभी तक एक बूंद पानी की सप्लाई करने की स्थिति में भी यह योजना नहीं है। पीएचईडी विभाग के सहायक अभियंता बलखा उरांव, कनीय अभियंता शिवकुमार बेदिया तथा कार्य सहायक मिट्ठू रविदास ने धरना पर बैठे पूर्व मुखिया के साथ वार्ता की। विभाग की ओर से उन्हें इस बात का आश्वासन दिया गया कि जल्द ही योजना को पूर्ण किया जाएगा। धरना पर बैठे लोगों ने कहा कि वे आश्वासन के आधार पर अपना आंदोलन खत्म नहीं करेंगे। उन्हें जब यह जानकारी मिलेगी कि पेयजल आपूर्ति शुरू हो गई है, तभी उनका आंदोलन खत्म होगा। इसके अतिरिक्त छावनी परिषद क्षेत्र में जिन सड़कों को तोड़ कर रखा गया है, उनकी मरम्मत भी तत्काल होनी चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/अमितेश

अन्य खबरें

No stories found.