झारखंड

चारा घोटाला मामले में हुई सुनवाई, दो गवाहों की हुई गवाही

news

रांची, 23 फरवरी (हि.स.)। राजद सुप्रीमो बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव से जुड़े चारा घोटाला मामले में आरोपियों को गवाह प्रस्तुत करने के लिए सीबीआइ की विशेष अदालत ने अंतिम मौका दिया है। इसके लिए 26 फरवरी की तिथि निर्धारित की गई है। सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश एसके शशि की अदालत में मंगलवार को सुनवाई के दौरान बचाव पक्ष ने दो गवाही कराई। सीबीआइ की ओर से कोर्ट में पक्ष रख रहे विशेष लोक अभियोजक बीएमपी सिंह ने कहा कि चारा घोटाले में आरोपी श्याम नंदन सिंह ने अपने बचाव में बेटे अभय कुमार सिंह को गवाह के रूप में प्रस्तुत किया। इसके अलावा बीपी सिन्हा ने अपने बचाव में अनन्या कुमार सरकार को उतारा। दोनों गवाहों को कोर्ट में प्रतिपरीक्षण किया गया। मामले में अब तक बचाव पक्ष की ओर से 25 गवाही दर्ज कराई गई है। अदालत में अगली तारीख को सुनवाई के दौरान गवाही बंद होती है तो मामले में बहस शुरू हाेगी। उल्लेखनीय है कि चारा घोटाले की इस मामले में सीबीआइ कोर्ट सप्ताह में दो दिन मंगलवार एवं शुक्रवार को फिजिकल सुनवाई कर रही है। चारा घोटाला का यह मामला डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से जुड़ा है। मामले में लालू सहित 110 आरोपी ट्रायल फेस कर रहे हैं। सीबीआइ ने शुरुआत में 170 लोगों को मामले में आरोपी बनाया था। लालू समेत 147 आरोपियों के खिलाफ आरोप गठित किया गया था। सुनवाई के दौरान अब तक बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. जगन्नाथ मिश्र सहित 37 आरोपितों की मौत हो चुकी है। हिन्दुस्थान समाचार/ विकास

AD