सरकार ने नौ जिलों में किसानों को धान बीज उपलब्ध कराने की योजना बनायी है : बादल पत्रलेख

सरकार ने नौ जिलों में किसानों को धान बीज उपलब्ध कराने की योजना बनायी है : बादल पत्रलेख
government-has-planned-to-provide-paddy-seeds-to-farmers-in-nine-districts-badal-patralekh

13/05/2021 रांची, 13 मई (हि. स.)। झारखंड सरकार ने मॉनसून की शुरुआत के पहले राज्य के सभी जिलों में 50 प्रतिशत अनुदानित दर पर किसानों को धान का बीज उपलब्ध करा देने का भरोसा दिलाया है। राज्य के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने गुरुवार को अपने एक वीडियो संदेश में कहा कि रोहिणी नक्षत्र को धान की बुआई के लिए सबसे उपयुक्त और अच्छा समय माना जाता है। राज्य सरकार ने 25 मई के पहले संताल परगना प्रमंडल के छह जिलों दुमका, जामताड़ा, साहेबगंज, गोड्डा, पाकुड़ और देवघर तथा कोल्हान प्रमंडल के तीन जिलों पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम व सरायकेला-खरसावां यानी नौ जिलों में किसानों धान बीज उपलब्ध कराने की योजना बनायी है। उन्होंने गुरुवार को किसानों से आग्रह किया कि 50 प्रतिशत अनुदानित दर पर लैम्पस, पैक्स और कॉपरेटिव के माध्यम से समय पर धान का बीज प्राप्त कर लें। धान की बुआई तथा रोपाई समय पर करने की तैयारी अभी से शुरू करें। कृषि मंत्री ने कहा कि अभी झारखंड समेत देशभर में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से बचाव को लेकर सभी प्रोटोकॉल आवश्यक सतर्कता लोगों को बरतनी चाहिए। उन्होंने कहा कि किसान भाई अपने जिले में निकटतम वैक्सीनेशन सेंटर जाकर खुद को, घर-परिवार और समाज को सुरक्षित रखने के लिए वैक्सीन जरूर लें और सरकार द्वारा जारी सभी गाइडलाइन का जरूरी पालन करें। यह जानकारी कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कृषिमंत्री बादल के हवाले से दी। उन्होंने कहा कि झारखंड में मॉनसून संताल परगना और कोल्हान प्रमंडल के रास्ते प्रवेश करता है। इसलिए राज्य सरकार ने पहले चरण में समय पर इन जिलों में धान बीज उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। शेष अन्य जिलों में भी समय पर किसानों को धान बीज उपलब्ध कराने के लिए कृषि मंत्री ने विभागीय अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया है।बादल पत्रलेख ने गोड्डा जिला में 500 क्विंटल धान पहुंच चुका है। उसकी जानकारी मैसेज के माध्यम से किसानों को दी जा चुकी है। हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण/चंद्र

अन्य खबरें

No stories found.