four-accused-of-vehicle-robbery-arrested-arms-recovered
four-accused-of-vehicle-robbery-arrested-arms-recovered
झारखंड

वाहन लूट गिरोह के चार आरोपित गिरफ्तार, हथियार बरामद

news

रामगढ़, 03 अप्रैल (हि.स.)। जिला पुलिस ने वाहन लूट गिरोह का पर्दाफाश करते हुए चार आरोपितों को गिरफ्तार किया है। उनके पास से 9 एमएम की एक देसी सेमी ऑटोमेटिक पिस्तौल, 9 एमएम की गोली, एक लोहे का रॉड, चापड़, प्लास्टिक की रस्सियां और चोरी के तीन वाहन जब्त हुए हैं। पुलिस अधीक्षक प्रभात कुमार ने पत्रकार वार्ता में बताया कि गिरफ्तार आरोपितों में रांची जिले के पिठोरिया थाना क्षेत्र अंतर्गत काटमकुल्ली निवासी नौशाद अंसारी, मोबिन अंसारी और गोंदा थाना क्षेत्र के कांके रोड भिठा निवासी सरफराज आलम शामिल हैं। हालांकि, दो आरोपित सद्दाम अंसारी और अख्तर अंसारी भागने में सफल रहे हैं। उन्होंने बताया कि शुक्रवार की रात गोला-बरलंगा रोड में पूरबडीह के जंगल में कुछ संदिग्ध लोगों के होने की सूचना मिली थी। इस सूचना के आधार पर डीएसपी हेड क्वार्टर संजीव कुमार मिश्रा के नेतृत्व में विशेष टीम ने छापेमारी शुरू की। टीम ने देखा कि पूरबडीह जंगल की तरफ एक सुमो विक्टा (जेएच 01 बीपी 4022) में 5-6 लोग बैठे हुए हैं। पुलिस की टीम को देखते हुए सभी आरोपित भागने की कोशिश करने लगे। पुलिस ने पीछा कर सभी आरोपितों को धर दबोचा। पुलिस की पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि वे लोग लूटपाट करने के उद्देश्य से जंगल में घात लगाए हुए थे। गाड़ी काटने वाला कारोबारी भी गिरफ्तार एसपी प्रभात कुमार ने बताया कि वाहन लूट गिरोह के सदस्य गाड़ी को लूटकर सीधे रांची के कबाड़खाने में पहुंचा देते थे। पुलिस ने इनके अलावा रांची जिले के पंडरा ओपी क्षेत्र के लक्ष्मी नगर पिस्का मोड़ हेहल निवासी रवि प्रकाश गौड़ उर्फ गुड्डू गौड़ को भी गिरफ्तार किया गया। वह चोरी और लूट की गाड़ियों की तत्काल कटिंग करता था। कई जिलों में सक्रिय था यह गिरोह एसपी प्रभात कुमार ने बताया कि यह वाहन लुटेरा गिरोह झारखंड के कई जिलों में सक्रिय रहा है। रामगढ़ में भी इन लोगों ने पिछले 6 महीने में 5 गाड़ियों की चोरी की थी, जिसकी स्वीकारोक्ति गिरफ्तार आरोपितों ने की है। उन्होंने बताया कि बोकारो, हजारीबाग, लोहरदगा, रांची एवं अन्य जिलों में इन लोगों ने गाड़ियों की लूट और चोरी की है। एसपी ने बताया कि अभी तक की जांच में यह पता चला है कि सभी लुटेरे कई बार जेल जा चुके हैं। जेल से निकलने के बाद वह फिर से सक्रिय हो जाते हैं। उनके पास से बरामद मोबाइल में सैकड़ों गाड़ियों की तस्वीरें मिली हैं। आरोपितों ने यह बताया है कि वह सैकड़ों गाड़ियों को अब तक लूट कर कबाड़ खाने में कटवा चुके हैं। किसी भी गाड़ी को लूटने से पहले उसकी तस्वीर रवि को भेजते थे। जब वहां से रेट फाइनल होता था तब लूटने की योजना बनाते थे। हिन्दुस्थान समाचार/ अमितेश/चंद्र