रांची विवि में मनाई गई डॉ अम्बेडकर की जयंती

रांची विवि में मनाई गई डॉ अम्बेडकर की जयंती
dr-ambedkar39s-birth-anniversary-celebrated-in-ranchi-university

रांची, 14 अप्रैल (हि.स.)। बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर की 130वीं जयंती रांची विश्वविद्यालय के बहुउद्देश्यीय परीक्षा भवन में सादगीपूर्वक मनाई गई। कोविड-19 महामारी को लेकर विश्वविद्यालय में अवकाश है लेकिन परीक्षा कार्य जारी होने से डॉ अम्बेडकर जयंती कार्यक्रम में एमपीईएच एवं ईडीपीसी के पदाधिकारी एवं कर्मचारी शामिल हुए। रांची विश्वविद्यालय की कुलपति डॉ कामिनी कुमार ने बाबा साहब के चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम की शुरुआत की। इस अवसर पर कुलपति डॉ कामिनी कुमार ने कहा कि भारतीय संविधान के निर्माता एवं सामाजिक समरसता के प्रमुख सूत्रधार डॉ भीमराव अम्बेडकर ने देश के लिए बहुमूल्य योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि डॉ अम्बेडकर ने देश को सामाजिक एवं धार्मिक समानता का रास्ता दिखाया था। वे जातिगत व्यवस्था से ऊपर उठकर राष्ट्र के विकास एवं सामाजिक समरसता पर ज्यादा बल देते थे। उन्होंने कहा कि डॉ अम्बेडकर ने विज्ञान एवं तकनीक के जरिए देश के विकास के पक्षधर रहे और नए तकनीक के आविष्कार की हमेशा वकालत करते थे। कुलपति ने कार्यक्रम में उपस्थित लोगों से बाबा साहब की जीवनी को पढ़कर उनके बताए गए मार्गों पर चलने की अपील की। एमपीईएच के निदेशक डॉ अशोक कुमार सिंह ने कहा कि बाबा साहब का देश के लिए किया गया योगदान अतुलनीय है। उनके योगदान को हमेशा स्मरण करना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। जयंती कार्यक्रम में अरुण कुमार सिंह, विजय कुमार, मोहम्मद असलम सहित कई कर्मचारियों ने बाबा साहब के चित्र पर पुष्प चढ़ाकर उन्हें नमन किया। हिन्दुस्थान समाचार/ कृष्ण/चंद्र