धनबाद डीसी ने पीएमसीएच स्थित एक सौ बेड के नवनिर्मित कोविड- 19 अस्पताल का किया उद्घाटन।
धनबाद डीसी ने पीएमसीएच स्थित एक सौ बेड के नवनिर्मित कोविड- 19 अस्पताल का किया उद्घाटन।
झारखंड

धनबाद डीसी ने पीएमसीएच स्थित एक सौ बेड के नवनिर्मित कोविड- 19 अस्पताल का किया उद्घाटन।

news

धनबाद, 23 जुलाई (हि.स.) । धनबाद डीसी उमा शंकर सिंह ने गुरूवार को पीएमसीएच स्थित कैथ लैब में एक सौ बेड के नवनिर्मित डेडीकेटेड कोविड-19 अस्पताल का उद्घाटन किया। उद्घाटन करने के बाद उन्होंने हर वार्ड, पैन्ट्री रूम, सर्विस रूम, स्टाफ ड्यूटी रूम सहित संपूर्ण अस्पताल परिसर का निरीक्षण किया। वहां प्रतिनियुक्त डॉक्टरों की टीम, स्वास्थ्य कर्मी, नर्सिंग स्टाफ, सफाई कर्मचारी, सुरक्षाकर्मियों को पूरी निष्ठा से अपने कर्तव्य का निर्वहन करने तथा नियमित अंतराल पर अस्पताल परिसर की सफाई और सैनिटाइजेशन करने का निर्देश दिया। उद्घाटन करने के बाद उपायुक्त ने कहा कि इस अस्पताल में मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं में किसी भी प्रकार की कमी नहीं होगी। तय समय के अनुसार मरीजों को सुबह का नाश्ता, दोपहर का भोजन, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए शाम को हर्बल काढ़ा एवं रात्रि भोजन परोसा जाएगा। मरीजों को हर दिन प्रचूर मात्रा में विटामिन 'सी' युक्त फल तथा फेफड़ों को मजबूत बनाने के लिए हरी मिर्च भी दिया जाएगा। अस्पताल 24 घंटे सीसीटीवी कैमरे के सर्विलांस में रहेगा जिसका फुटेज वे अपने मोबाइल पर भी देख सकेंगे। साथ ही कहा कि कोविड-19 के हल्के लक्षण वाले मरीजों का उपचार यहां किया जाएगा। गंभीर लक्षण वाले मरीज, जिन्हें सांस लेने में तकलीफ होगी या वेंटिलेटर की आवश्यकता होगी, को कोविड-19 अस्पताल (सेंट्रल अस्पताल) में भर्ती किया जाएगा। सुबह 8:00 बजे नाश्ता में जाम या मक्खन लगाकर ब्रेड, अंडा और दूध। दोपहर 12 से 12.30 के बीच रोटी, दाल, सब्जी, चावल, अंडा, विटामिन 'सी' युक्त फ्रूट, हरी मिर्च। शाम 4 बजे तुलसी, हल्दी, दालचीनी, लौंग से तैयार किया गया हर्बल काढ़ा। रात्रि 8 बजे रोटी या चावल, दाल, सब्जी, अंडा, हरी मिर्च दिया जाएगा। इस अवसर पर उपायुक्त उमा शंकर सिंह के साथ अपर समाहर्ता श्याम नारायण राम, अनुमंडल दंडाधिकारी राज महेश्वरम, नजारत उप समाहर्ता श्री अनुज बांडो, पीएमसीएच अधीक्षक डॉ. अरुण कुमार, एचओडी मेडिसिन डॉ. यूके ओझा, डॉ. राज कुमार, डॉ. नितिन पाठक व अन्य लोग उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार / बिमल चक्रवर्ती /सबा एकबाल-hindusthansamachar.in