स्वास्थ्य विभाग की अनुदान मांग विपक्ष के बहिर्गमन के बीच ध्वनिमत से पारित

स्वास्थ्य विभाग की अनुदान मांग विपक्ष के बहिर्गमन के बीच ध्वनिमत से पारित
demand-for-grant-of-health-department-passed-by-voice-amid-opposition-exit

रांची, 16 मार्च (हि.स.)। झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा है कि कोरोना संक्रमणकाल में राज्य सरकार की पूरी टीम ने तन्मयता से काम किया, जिसके कोरोना संक्रमितों की मृत्यु दर झारखंड में राष्ट्रीय औसत से लगभग आधी रही। स्वास्थ्य मंत्री मंगलवार को विधानसभा में स्वास्थ्य विभाग की अनुदान मांग पर वाद-विवाद के बाद सरकार की ओर से जवाब दे रहे थे। भोजनावकाश के बाद अनुदान मांग पर हुई चर्चा के बाद 44 अरब, 33 करोड़ और 22 लाख से अधिक की अनुदान मांग को विपक्षी सदस्यों के बहिगर्मन के बीच ध्वनिमत से मंजूरी प्रदान कर दी गयी। वहीं भाजपा के अनंत ओझा द्वारा लाये गये कटौती प्रस्ताव को खारिज कर दिया गया। स्वास्थ्य मंत्री ने सरकार की ओर से दिये गये जवाब में कहा कि झारखंड में स्वस्थ्य होने वाले मरीजों की दर भी करीब 99 फीसदी के निकट पहुंच गयी है, जबकि इसका राष्ट्रीय औसत 96 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि कोराना संक्रमण का संकट उत्पन्न होने के समय राज्य में एक भी लैब नहीं था, लेकिन आज सात स्थानों पर आरटीपीसी लैब की स्थापना की गयी है। चर्चा में विकास सिंह मुंडा, नीरा यादव, रामचंद्र सिंह, प्रदीप यादव, लंबोदर महतो, विनोद कुमार सिंह, समीर मोहंती, समरी लाल और इरफान अंसारी ने हिस्सा लिया। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष रवीन्द्रनाथ महतो ने बुधवार 10 बजे तक के लिए सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी। हिन्दुस्थान समाचार/ विकास