झारखंड सीआरपीएफ ने 82वां स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया, अधिकारियों और जवानों ने 82 यूनिट रक्तदान किया
झारखंड सीआरपीएफ ने 82वां स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया, अधिकारियों और जवानों ने 82 यूनिट रक्तदान किया
झारखंड

झारखंड सीआरपीएफ ने 82वां स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया, अधिकारियों और जवानों ने 82 यूनिट रक्तदान किया

news

रांची, 27 जुलाई (हि.स.) । केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) झारखंड सेक्टर ने 82 वां स्थापना दिवस बड़े ही धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया । स्थापना दिवस समारोह के दौरान ग्रुप केन्द्र राॅची में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के 82वें वर्षगाॅठ के अवसर पर बल के अधिकारी और जवानों द्वारा 82 यूनिट रक्त दान किया । मौके पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सीआरपीएफ आईजी राजकुमार ने सभी अधिकारियों और जवानो को स्थापना दिवस की बधाई दी तथा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के अमर शहीदों को याद करते हुए प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें नमन किया। वीर शहीदों की शहादत हमारे लिये प्रेरणास्त्रोत राजकुमार ने कहा कि वीर शहीदों की शहादत हमारे लिये प्रेरणास्त्रोत हैं। जो हमें हौसला और हिम्मत देती है। उन्होंने बताया कि हमारा बल विश्व का सबसे बड़ा अर्द्धसैनिक बल है। जिसमें 249 बटालियन है । जो न केवल देश की आंतरिक सुरक्षा के प्रति सजग एवं सचेत है बल्कि सामाजिक सरोकार एवं मानवता के प्रति भी उतना ही प्रतिबद्ध है। उन्होने बताया कि झारखण्ड राज्य में तैनात केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल नक्सलियों का सामना कर उन्हे मुंहतोड़ जबाव दे रही है। देश की सेवा करते हुए अबतक इस बल के 2100 से भी अधिक वीर जवानों ने अखण्ड भारत की गरिमा बनाए रखने के लिए अपने प्राणों की आहूति दी है। नक्सल विरोधी अभियान के लिए सीआरपीएफ की 22 कंपनी तैनात झारखंड राज्य में नक्सल विरोधी अभियान के लिए सीआरपीएफ की 20 जीडी बटालियन और 02 कोबरा बटालियन तैनात है। झारखंड सेक्टर के बहादुर जवानों ने इस वर्ष के दौरान अबतक 08 माओवादियों को मुठभेड़ में मार गिराया है। इसी अवधि में 06 माओवादियों ने आत्मसमर्पण किया है एवं 35 माओवादियों को गिरफ्तार किया गया है। इसके अतिरिक्त 12 रेगुलर हथियार, 26 अन्य हथियार, 1527 कारतूस, 659 डेटोनेटर, 133 आई.ई.डी. तथा 1220 किलोग्राम विस्फोटक एवं अन्य सामग्रियों को भी जब्त किया है। यह आंकड़ा ही अपने-आप में झारखंड राज्य में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के कार्यो की उत्कृष्ट योगदान को उल्लेखित करता है। आईजी ने बताया कि नक्सल विरोधी अभियानों के साथ-साथ ही झारखंड सेक्टर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा झारखंड राज्य में विभिन्न प्रकार के कल्याणकारी कार्य किए जा रहें हैं। पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए बीते 21 जून से 20 जुलाई तक ‘‘अखिल भारतीय पौधरोपण अभियान‘‘ के दौरान केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा 22,72,238 पौधरोपण का लक्ष्य रखा गया था । केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा निर्धारित लक्ष्य से भी अधिक 25,12,791 पौधरोपण किया गया हैं, जो अपने आप में पर्यावरण की सुरक्षा के लिए बहुत बड़ी उपल्ब्धि है। इसी निर्धारित अवधि में झारखण्ड सेक्टर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, को 1,32,000 पौधरोपण का लक्ष्य प्राप्त हुआ था। झारखण्ड सेक्टर, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा अहम भूमिका निभाते हुए प्राप्त लक्ष्य से भी अधिक कुल 1,53,430 पौधरोपण किया है, जो बहुत बड़ी उपल्ब्धि है। साथ ही ‘‘एक व्यक्ति एक पेड़ के सिद्धांत पर सभी को पौधरोपण की जिम्मेदारी दी गई है। साथ ही व्यक्तिगत रूप से उसकी देख-भाल की जिम्मेदारी का भी लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि सामाजिक और कल्याणकारी कार्याें के क्षेत्र में झारखण्ड सेक्टर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा समय-समय पर रक्तदान शिविर, चिकित्सा शिविर इत्यादि का आयोजन किया जाता रहा है, साथ ही सिविक एक्शन प्रोग्राम के माध्यम से सुदुरतर्वी ग्रामीण क्षेत्रों में सोलर लाईट, समरसेबल पम्प, खेलकुद सामग्री एवं कौशल विकास कार्यक्रमो का आयोजन, पानी को संरक्षित करने के लिए रेन वाटर हार्वेस्टिग, मुर्गी पालन, ग्रामीणों को चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध कराना, बल के शहीद कार्मिकों के नाम पर उनके पैतृक गाॅव के विद्यालय में सुसज्जित पुस्तकालयों का निर्माण सहित अनेकों कल्याणकारी कार्य करवाये गये है। इसके अलावा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा लोगों के कल्याण के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की जानकरी भी जन सामान्य को दी जाती है तथा इस प्रकार केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल आम लोगों तथा सरकार के बीच एक सेतु का कार्य भी करती है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से लडने के लिए राज्य सरकार के साथ-साथ झारखण्ड सेक्टर, सीआरपीएफ द्वारा भी कई महत्वपुर्ण कदम उठाए गए। राजधानी राॅची में कनटेनमेंट जोन में संक्रमण के रोक-थाम के लिए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की दो कम्पनियों को तैनात किया गया था, जिन्होने 24 घंटे तैनात रह कर संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। कोरोना महामारी के इस दौर में झारखण्ड में तैनात केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की बटालियनो द्वारा लाखों की संख्या में सेनेटाईजर, हैन्ड वाॅस, मास्क, दस्ताने, इत्यादि का वितरण किया गया। इसके अलावा इनके द्वारा सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्रों में 2,17,000 जरूरतमंद लोगो में राशन सामग्री वितरित की गई। इस अवसर पर डीआईजी अखिलेश प्रसाद सिंह, झारखण्ड सेक्टर के डी.एस. राठौर, डी.टी. बनर्जी एवं ब्रिगेडियर सुशील शर्मा (सेवानिवृत) सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी और जवान उपस्थित थे। हिंदुस्थान समाचार/ विकास/ विनय-hindusthansamachar.in