दुष्कर्म के मामले में अपराधियों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए : इंदु भगत

दुष्कर्म के मामले में अपराधियों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए : इंदु भगत
Criminals should be punished severely in case of rape: Indu Bhagat

मेदिनीनगर, 15 जनवरी (हि.स.)। नई दिशाएँ स्वयंसेवी संस्था के सचिव इंदु भगत आए दिन हो रहे दुष्कर्म की घटना को लेखर दुःखी है। उन्होंने कहा कि दुष्कर्म को लेकर महिलाएं काफी सहमी हुई है । सिर्फ दुष्कर्म ही नहीं बल्कि महिलाओं के खिलाफ हिंसा भी बढ़ा है। उन्होंने कहा कि दुष्कर्म के मामलों में अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए । सरकार को कठोर कार्रवाई करनी चाहिए। ताकि बेटी व महिला महफूज रह सके और हमारी समाज ज्यादा सुरक्षित हो। उन्होंने सरकार की नीति व नियत पर सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर बेटियों को सुरक्षा देने की जबाबदेही किसको है? बेटियाँ कब तक असुरक्षित रहेंगी।उन्होंने कहा कि किसी की बेटी, बहन व माँ अगर काम पर या पढ़ाई करने जाते हैं तो घर वाले डरे सहमे रहते हैं कि उनके घर से गई महिलाएं सुरक्षित घर लौट पाती है या नहीं। उन्होंने कहा कि राज्य में प्रतिदिन दुष्कर्म की घटनाए सुनने को मिलती हैं। सरकार दुष्कर्म की घटनाओं पर रोक लगाने में विफल साबित हो रही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार में आदिवासी बालाओं की तस्करी, दुष्कर्म व हत्या के घटना में बेतहाशा बृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि बिगत एक बर्ष में पांच सौ आदिवासी लड़कियां के साथ रेप व हत्याएं हुई है। वही 1765 महिलाओं व बच्चियों के साथ एक बर्ष में रेप हुई है। इस तरह की घटना से राज्य शर्मसार हो रहा है। नवालिक बच्चीयों को भी नही बक्सा जा रहा है।दुष्कर्म के घटना के बाद थानेदार द्वारा सबूत मांगा जाता है। क्या दुष्कर्म पीड़िता पुलिस को अब डेमो करके सबूत दिखाएगी।उन्होंने कहा कि नई दिशायें के माध्यम से महिलाओं व बच्चियों के बीच जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। मौके पर डॉ शैल शिखा,अनिता मिंज भी मौजूद थी। हिन्दुस्थान समाचार/संजय-hindusthansamachar.in