कांग्रेस नेताओं ने नियेल तिर्की को दी श्रद्धांजलि

कांग्रेस नेताओं ने नियेल तिर्की को दी श्रद्धांजलि
congress-leaders-paid-tribute-to-niall-tirkey

रांची, 14 अप्रैल (हि.स.)। सिमडेगा के पूर्व विधायक और एकीकृत बिहार में पूर्व मंत्री रहे नियेल तिर्की का बुधवार को रांची में निधन हो गया। रांची स्थित कांग्रेस भवन में एक शोकसभा कर पूर्व विधायक को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सह राज्य के वित्त तथा खाद्य आपूर्ति मंत्री रामेश्वर उरांव सहित अन्य नेताओं-कार्यकर्त्ताओं ने उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी। सिमडेगा विधानसभा क्षेत्र से वर्ष 2000 और 2005 में कांग्रेस से निर्वाचित हुए नियेल तिर्की ने बुधवार को रांची स्थित रिम्स के ट्रामा सेंटर में अंतिम सांस ली। प्रदेश कांग्रेस भवन में आज बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की जयंती मनाने के लिए समारोह होना था। इस बीच पूर्व विधायक नियेल तिर्की के निधन की खबर मिलने पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव, कार्यकारी अध्यक्ष केशव महतो कमलेश, प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोरनाथ शाहदेव, राजेश गुप्ता और वरिष्ठ नेता निरंजन पासवान सहित अन्य नेताओं ने नियेल तिर्की को भावभीनी श्रद्धांजलि दी। रामेश्वर उरांव ने नियेल तिर्की के निधन को अपूरणीय क्षति बताते हुए कहा कि अलग झारखंड राज्य से संघर्ष और बिहार विधानसभा में अलग झारखंड राज्य गठन को लेकर विधेयक पारित कराने में नियेल तिर्की की महत्वपूर्ण भूमिका रही। उन्होंने जोर-शोर से अलग राज्य की वकालत की और अलग झारखंड राज्य गठन के लिए उन्होंने मंत्री पद त्यागना भी उचित समझा। कार्यकारी अध्यक्ष केशव महतो कमलेश ने कहा कि नियल तिर्की का निधन पार्टी के लिए अपूरणीय क्षति है। वे काफी संघर्षशील नेता थे। प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि नियेल तिर्की सदैव सिमडेगा ही नहीं, बल्कि राज्यभर में पार्टी संगठन की मजबूती के लिए प्रयासरत रहते थे। लाल किशोरनाथ शाहदेव ने कहा कि पूर्व विधायक नियेल तिर्की की पहचान ना सिर्फ एक झारखंड आंदोलनकारी नेता के रूप में थी, बल्कि उन्होंने झारखंड में राज्य में रहने वाले आदिवासी और अन्य वंचित समुदाय के विकास के लिए अपना सर्वत्र न्यौछावर कर दिया। राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि पूर्व विधायक नियेल तिर्की के निधन से पार्टी को अपूरणीय क्षति हुई है। निकट समय में इसकी भरपाई संभव नहीं है। हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण